मैं भगवान राम नहीं कि दलित के साथ खाकर उन्हें पवित्र कर दूंगी: उमा भारती

26 0

भोपाल। केंद्रीय मंत्री उमा भारती का मानना है कि वो भगवान राम नहीं हैं कि दलित के घर भोजन करने से वे पवित्र हो जाएंगे। उमा ने कहा कि जब उनके घर आकर दलित साथ बैठकर भोजन करेंगे, तो वो पवित्र होंगी।

उमा ने क्यों कही ये बात
दरअसल, बीजेपी नेतृत्व ने पार्टी के सभी नेताओं और मंत्रियों से कहा है कि वे दलितों के घर जाकर भोजन करें। खुद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह कई दलितों के घर जाकर भोजन कर चुके हैं। उमा भारती को भी मंगलवार को एक दलित परिवार के घर भोजन करना था, लेकिन उमा ने कहा कि वो तो भोजन कर चुकी हैं। इसके बाद उन्होंने कहा- ‘हम भगवान राम नहीं हैं कि दलितों के साथ भोजन करेंगे, तो वे पवित्र हो जाएंगे। जब दलित हमारे घर आकर साथ बैठकर भोजन करेंगे, तब हम पवित्र हो पाएंगे। दलित को जब मैं अपने घर अपने हाथों से खाना परोस कर खिलाऊंगी। जब मेरे परिवार के लोग दलितों की झूठी थाली उठाएंगे, तब मेरा घर धन्य हो जाएगा।’

उमा भारती ने और क्या कहा ?
उमा भारती ने ये भी कहा कि वो कभी सामाजिक समरसता भोजन में हिस्सा नहीं लेती हैं। उमा का कहना था- ‘मैं खुद को भगवान राम नहीं मानती कि शबरी के घर जाकर भोजन किया। मैं आज आपके साथ बैठकर भोजन नहीं कर पाऊंगी, क्योंकि मैंने भोजन कर लिया है।’ बता दें कि बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व की ओर से निर्देश दिए जाने के बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ समेत तमाम मंत्री दलितों के घर जाकर भोजन कर चुके हैं। मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान और अमित शाह भी दलितों के घर जाकर खाना खा चुके हैं।

दलितों के यहां भोजन को लेकर हो चुका है विवाद
दलितों के यहां भोजन करने को लेकर विवाद भी हो चुके हैं। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दलित परिवार को फाइव स्टार होटल में बुलाकर उनके साथ खाया था। वहीं, यूपी सरकार में मंत्री सुरेश राणा ने अलीगढ़ में दलित के घर जो खाना खाया, वो होटल से मंगाया गया था।

Related Post

सीरिया में हेलीकॉप्टर से रासायनिक हमला, 80 लोगों की मौत, सैकड़ों घायल

Posted by - April 9, 2018 0
अमेरिका और ब्रिटेन ने सीरियाई राष्‍ट्रपति असद और रूस को हमले के लिए ठहराया जिम्‍मेदार दमिश्‍क। सीरिया के पूर्वी गोउटा…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *