वेनेजुएला का भारत को ऑफर, क्रिप्टोकरेंसी दो तो 30 फीसदी सस्ता देंगे कच्चा तेल

189 0

कराकास/नई दिल्ली। दुनिया के सबसे बड़े कच्चे तेल उत्पादक देश वेनेजुएला ने भारत को 30 फीसदी कम कीमत पर कच्चा तेल देने का ऑफर दिया है, लेकिन इसके लिए उसने एक शर्त रखी है। शर्त ये है कि तेल की कीमत उसकी क्रिप्टोकरेंसी ‘पेट्रो’ में चुकानी होगी।

वेनेजुएला का एक प्रतिनिधिमंडल मार्च में भारत के दौरे पर आया था। इसी दौरान उसने दिल्ली की क्वॉइन सिक्योर कंपनी को अपनी क्रिप्टोकरेंसी पेट्रो की खरीद-बिक्री के लिए अधिकृत किया है। क्वॉइन सिक्योर के मुताबिक वेनेजुएला सरकार चाहती है कि ये कंपनी बिटक्वॉइन के साथ ही उसकी पेट्रो नाम की क्रिप्टोकरेंसी में भी लेन-देन शुरू करे।

क्या है पेट्रो ?
बिटक्वॉइन का नाम तो आपने सुना ही होगा। ये ऐसी मुद्रा है, जो हकीकत में मौजूद नहीं है। इसका सारा लेन-देन ऑनलाइन होता है। वेनेजुएला की पेट्रो नाम की क्रिप्टोकरेंसी भी बिटक्वॉइन जैसी ही है। वेनेजुएला चाहता है कि पेट्रो नाम की इस क्रिप्टोकरेंसी से ही मोदी सरकार कच्चे तेल की पेमेंट करे।

कब की थी पेट्रो की शुरुआत ?
वेनेजुएला ने फरवरी 2018 में अपनी क्रिप्टोकरेंसी पेट्रो की शुरुआत की थी। इसकी शुरुआत गहराते आर्थिक संकट की वजह से वेनेजुएला ने की थी। वहां की वामपंथी सरकार ने पेट्रो की 3.84 करोड़ इकाइयां पेश की थीं।

कितना है वेनेजुएला के पास कच्चा तेल ?
वेनेजुएला के पास दुनिया का सबसे बड़ा कच्चे तेल का भंडार है। एक अनुमान के मुताबिक उसके पास 30 अरब बैरल कच्चा तेल है। जबकि दुनिया के दूसरे सबसे बड़े उत्पाद सऊदी अरब के पास करीब 27 अरब बैरल कच्चा तेल है।

Related Post

महाराष्ट्र के बीजेपी सांसद का दावा, गुजरात चुनाव में हार रही है उनकी पार्टी

Posted by - December 17, 2017 0
काकड़े ने कहा – यह दावा उनकी टीम द्वारा गुजरात में किए गए सर्वेक्षण के नतीजों पर आधारित पुणे। एग्जिट…

मुझे बदनाम करने को बीजेपी ला सकती है फर्जी सेक्स सीडी : हार्दिक

Posted by - November 4, 2017 0
अहमदाबाद : पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने दावा किया है कि गुजरात विधानसभा चुनाव में फायदा हासिल करने के लिए…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *