चीन के साथ रिश्तों का नया युग शुरू, मोदी बोले- मिलकर बदल सकते हैं दुनिया  

157 0

वुहान। डोकलाम घटना के बाद भारत-चीन रिश्तों में नए युग की शुरुआत होने की उम्मीद बढ़ी है। पीएम नरेंद्र मोदी की चीन यात्रा के दौरान वहां के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच दोस्ताना माहौल में हुई तमाम बातचीत के दौरान दोनों नेताओं के हाव-भाव इसका संकेत दे रहे हैं। मोदी का ये दौरा अनौपचारिक है। मोदी ने ऐसे ही अनौपचारिक दौरे का न्योता चीन के राष्ट्रपति को दिया है।

लेक के किनारे घूमे, नौका विहार किया
शनिवार को पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने वुहान शहर के बिल्कुल बीच में बने ईस्ट लेक के किनारे टहलते हुए बातचीत की। इस दौरान भी सिर्फ दोनों देशों के ट्रांसलेटर ही मौजूद थे। टहलने के बाद जिनपिंग और मोदी ने काफी देर तक ईस्ट लेक में नौका विहार किया। इस दौरान भी दोनों देशों का कोई अफसर मौजूद नहीं था।

इससे पहले मोदी ने जिनपिंग से क्या कहा ?
मोदी ने बुधवार को चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ तीन दौर की बातचीत की थी। इस दौरान मोदी ने कहा था कि जिनपिंग ने चीन के लिए जो न्यू एरा यानी नए युग की बात कही है, वैसा ही मेरी सरकार न्यू इंडिया की बात कहती है। मोदी ने दोनों देशों के बीच रिश्तों को बेहतर बनाने के लिए मिलकर काम करने पर जोर दिया था। पीएम ने जिनपिंग से कहा था कि भारत और चीन की कुल आबादी को जोड़ दें तो ये दुनिया की आबादी का 40 फीसदी होती है। ऐसे में दोनों देशों के बीच प्रगाढ़ रिश्तों से दुनिया में काफी कुछ सकारात्मक बदलाव किया जा सकता है। इससे पहले शुक्रवार को मोदी म्यूजियम गए और कल्चरल प्रोग्राम भी देखा था।

मोदी के लिए बजाया ‘तू तू है वही…’
चीन ने मोदी के स्वागत में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी थी। शुक्रवार को मोदी का स्वागत करने के लिए प्रोटोकॉल तोड़कर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग काफी देर तक इंतजार करते दिखे। शुक्रवार शाम को मोदी के लिए वुहान में कल्चरल प्रोग्राम रखा गया था। यहां बॉलीवुड फिल्म का प्रसिद्ध गीत ‘तू तू है वही, दिल ने जिसे अपना कहा’ को चीन के कलाकारों ने बजाया। मोदी और जिनपिंग इस गीत को काफी तन्मयता से सुनते दिखे।

जून में भी चीन जाएंगे मोदी
9 और 10 जून को चीन में शंघाई को-ऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन की मीटिंग है। इसमें भी मोदी के शामिल होने की उम्मीद है। माना जा रहा है कि उस वक्त भी चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ अलग से मुलाकात करेंगे। उम्मीद ये भी जताई जा रही है कि मोदी की तरह ही चीन के राष्ट्रपति भी जल्दी भी अनौपचारिक दौरे पर भारत आ सकते हैं।

Related Post

ग्रामीण क्षेत्रों में डायबिटीज से लड़ने में मददगार होगा यह नया डिजिटल टूल

Posted by - November 22, 2018 0
नई दिल्‍ली। ग्रामीण इलाकों में डायबिटीज के मरीजों की पहचान और उनके प्रभावी उपचार के लिए ‘इम्पैक्ट डायबिटीज’ नामक एक…

कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र में पाक को भारत ने दिया करारा जवाब

Posted by - March 10, 2018 0
भारत ने लगाई पाकिस्तान को लताड़, कहा – असफल देश हमें अधिकार और लोकतंत्र का पाठ न पढ़ाएं संयुक्‍त राष्‍ट्र।…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *