आपका स्मार्टफोन कर सकता है दिल को बीमार, बंद भी हो सकती है धड़कन

149 0
हैदराबाद। कर लो दुनिया मुट्ठी में जैसे नारों की वजह से आज भारत में करीब हर हाथ में स्मार्टफोन है। लोग हमेशा कान से फोन सटाए बातें करते या इंटरनेट पर कुछ न कुछ तलाशते देखे जा सकते हैं, लेकिन आपका ये स्मार्टफोन आपके दिल को बीमार कर सकता है। एक शोध के मुताबिक स्मार्टफोन की वजह से दिल की धड़कनें अनियमित हो जाती हैं और दिल की अनियमित धड़कनों से दिल के कभी भी धड़कना बंद होने की आशंका ज्यादा होती है।

क्या कहता है शोध ?
हैदराबाद के डेक्कन कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज (डीसीएमएस) में हुए शोध के नतीजे स्मार्टफोन को लेकर डरा देने वाले हैं। डीसीएमएस के शोधकर्ताओं के मुताबिक स्मार्टफोन को कान के आसपास लाने से दिल की धड़कनें अनियमित हो जाते हैं। जो लोग ईयरफोन का इस्तेमाल करते हैं, उनकी दिल की धड़कनों पर स्मार्टफोन का ज्यादा असर नहीं पड़ता है। शोधकर्ताओं ने सुझाव दिया है कि दिल पर स्मार्टफोन के असर को कम करने के लिए ईयरफोन का इस्तेमाल करना चाहिए। उनका कहना है कि जितना ही स्मार्टफोन आपके शरीर के पास होगा, उतना ही वो दिल की धड़कनों पर असर डालेगा।

शोध करने वाली टीम के ये हैं सदस्य
इस शोध को करने वाले डीसीएमएस के सदस्यों में जुवेरिया यासमीन, मेहनाज समीरा आरिफुद्दीन, नजीमा खातून, उमैमा माहवीन और मोहम्मद अब्दुल हन्ना हजारी है। ये सभी डीसीएमएस के फिजियोलॉजी डिपार्टमेंट के हैं। इनका ये शोध नेशनल जर्नल ऑफ फिजियोलॉजी, फार्मेसी और फॉर्माकोलॉजी में छपा है।

Related Post

गुजरात में कांग्रेस की तीसरी लिस्ट पर बवाल, कार्यकर्ताओं ने की तोड़फोड़

Posted by - November 27, 2017 0
नई दिल्लीः कांग्रेस ने गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए रविवार को अपने 76 और उम्मीदवारों की तीसरी लिस्ट जारी की।…

इस अनोखी रिसर्च को जानने के बाद शादी से इनकार नहीं कर पाएंगे मर्द

Posted by - October 31, 2018 0
टोक्‍यो। शादी-शुदा जीवन की समस्‍याओं को जानने के बाद अक्‍सर अविवाहित युवा शादी न करने का मन बना लेते हैं।…

अटल बिहारी के संबंध में मोदी सरकार ने लिया है ये बड़ा फैसला

Posted by - August 17, 2018 0
नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी की याद में केंद्र सरकार भव्य स्मारक बनाएगी। ये जानकारी सूत्रों ने दी। साथ…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *