कुशीनगर हादसा: ड्राइवर ने लगा रखे थे इयरफोन, ट्रेन देखने के बाद भी नहीं रुका

77 0

कुशीनगर। यहां स्कूल वैन और ट्रेन की टक्कर में 13 छात्रों की मौत के बाद ये बात सामने आ रही है कि स्कूल वैन का ड्राइवर कान में इयरफोन लगाकर गाने सुन रहा था। मानव रहित क्रॉसिंग पर उसने ट्रेन को आते देखा, लेकिन फिर भी वैन को पार कराने की कोशिश की। जिस वजह से ट्रेन ने स्कूली बच्चों से भरी वैन को टक्कर मार दी।

चश्मदीद ने बताई हादसे की वजह
घटना के वक्त एक बाइक सवार रेलवे क्रॉसिंग पर मौजूद था। उसके मुताबिक ट्रेन का ड्राइवर हॉर्न बजा रहा था। इसके बाद भी वैन के ड्राइवर ने गाड़ी नहीं रोकी और जल्दबाजी में मानव रहित क्रॉसिंग पार करने की कोशिश की। इस पर तेज रफ्तार ट्रेन ने इतनी जोर की टक्कर मारी कि वैन कई पलटियां खाती हुई करीब 50 मीटर दूर जाकर गिरी और उसके परखचे उड़ गए। बाइक सवार के मुताबिक ट्रेन के ड्राइवर ने ब्रेक भी लगाया, लेकिन टक्कर को रोक नहीं सका।

कान में इयरफोन लगाकर सुन रहा था गाने
कुछ अन्य लोगों ने बताया कि ड्राइवर ने गाने सुनने के लिए कान में इयरफोन लगा रखा था। उसे आती हुई ट्रेन भी दिख रही थी, लेकिन जल्दबाजी में वैन ड्राइवर ने ट्रैक पार करने की कोशिश की। जिसकी वजह से ये बड़ा हादसा हो गया।

रेल मंत्री ने दिए जांच के आदेश
रेल मंत्री पीयूष गोयल ने हादसे पर शोक जताया है। उन्होंने जांच के आदेश दिए हैं। रेलवे की तरफ से हर मृतक बच्चे के परिजन को 2 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। यूपी सरकार ने भी हर मृतक के परिजन को 2 लाख रुपए देने का एलान किया है। वहीं, इस हादसे पर पूर्वोत्तर रेलवे के सीपीआरओ संजय यादव का कहना है कि पहली नजर में वैन ड्राइवर की गलती लग रही है। संजय के मुताबिक वैन के ड्राइवर को रुकना चाहिए था और मानव रहित क्रॉसिंग की वजह से पहले तस्दीक कर लेनी चाहिए थी कि कोई ट्रेन आ रही है या नहीं।

Related Post

मुगाबे को राष्ट्रपति पद से हटाने को सड़कों पर उतरे जिम्बाब्वे के लोग

Posted by - November 19, 2017 0
प्रदर्शनकारियों के हाथ में थे पोस्टर, जिन पर मुगाबे के लिए लिखा था – ‘अब जिम्बाब्वे छोड़ दो’ हरारे। जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *