सिब्बल ने किया ऐलान – नहीं जाएंगे चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की कोर्ट में

107 0
  • कांग्रेस नेता बोले – सीजेआई दीपक मिश्रा का रिटायरमेंट तक सुनवाई करना मानकों के खिलाफ

नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग का प्रस्ताव लाने के साथ ही कांग्रेस ने और आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया है। कांग्रेस नेता और सुप्रीम कोर्ट में लंबे समय से प्रैक्टिस कर रहे कपिल सिब्बल ने ऐलान किया है कि अगर जस्टिस दीपक मिश्रा रिटायरमेंट तक अपने पद पर बने रहते हैं तो वे उनकी कोर्ट में पेश नहीं होंगे।

क्‍या कहा सिब्‍बल ने ?

कपिल सिब्बल ने कहा है कि वे सोमवार (23 अप्रैल) से चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया दीपक मिश्रा की कोर्ट में नहीं जाएंगे। एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में सिब्‍बल ने कहा कि जबतक चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रिटायर नहीं हो जाते, तबतक वे उनकी कोर्ट में नहीं उपस्थित होंगे। सिब्बल ने अपने फैसले को पेशेगत मूल्यों के अनुरूप बताया है। सिब्बल ने कहा कि अगर सीजेआई दीपक मिश्रा रिटायरमेंट तक सुनवाई करेंगे तो यह मानकों के खिलाफ होगा।

कांग्रेस नेताओं में मतभेद पर क्‍या बोले ?

कपिल सिब्बल से पूछा गया कि महाभियोग के प्रस्ताव पर पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम समेत कई बड़े कांग्रेस नेताओं ने हस्ताक्षर क्यों नहीं किया? इस पर सिब्बल ने कहा, ‘कांग्रेस ने ही चिदंबरम से हस्ताक्षर करने के लिए नहीं कहा, क्योंकि उन पर कई मामले लंबित हैं और मैं उनका वकील हूं।’ बता दें कि सिब्बल इस समय पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम के केस के साथ-साथ अयोध्या समेत कई अहम मामलों में पैरवी कर रहे हैं।

वेंकैया नायडू ने ली कानूनविदों की राय

महाभियोग के प्रस्ताव पर अब सबकी नजरें उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू पर टिक गईं हैं। उपराष्‍ट्रपति ने अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल के साथ ही संविधानविदों और कानूनी विशेषज्ञों संग प्रस्ताव पर विचार-विमर्श किया। राज्यसभा सचिवालय के सूत्रों के अनुसार, नायडू ने याचिका को स्वीकारने अथवा ठुकराने को लेकर संविधान विशेषज्ञ सुभाष कश्यप, पूर्व विधि सचिव पीके मल्होत्रा सहित अन्य विशेषज्ञों से कानूनी राय ली। माना जा रहा है कि नायडू जल्द ही विपक्षी दलों के इस नोटिस पर कोई फैसला करेंगे।

Related Post

कासगंज हिंसा पर सीएम योगी सख्त, अराजकता फैलाने वालों से सख्ती से निपटेंगे

Posted by - January 31, 2018 0
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश सरकार से कासगंज में हुई हिंसा पर मांगी रिपोर्ट लखनऊ। कासगंज में सांप्रदायिक हिंसा…

मप्र के स्कूलों में अब हाजिरी के वक्त छात्र ‘यस सर’ नहीं, बोलेंगे ‘जय हिंद’

Posted by - May 16, 2018 0
मध्‍य प्रदेश के सरकारी स्‍कूलों में नए शैक्षणिक सत्र से लागू हो जाएगा यह आदेश भोपाल। मध्य प्रदेश के सरकारी स्कूलों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *