दुनिया पर फिर मंडराया मंदी का खतरा, रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा वैश्विक कर्ज

114 0
  • दुनिया पर कर्ज बढ़कर 164 लाख करोड़ डॉलर हुआ, मंदी आई तो सामना करना होगा मुश्किल

वाशिंगटन। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि दुनिया में एक बार फिर मंदी के संकेत मिल रहे हैं। इसका कारण सार्वजनिक और निजी कर्ज का बढ़ना बताया जा रहा है। आईएमएफ ने रिपोर्ट में बताया कि दुनियाभर के देशों पर कर्ज का बोझ बढ़कर रिकॉर्ड 164 लाख करोड़ डॉलर (10,660 लाख करोड़ रुपए) हो गया है। मुद्रा कोष ने चेतावनी दी है कि अगर इसी तरह वैश्विक कर्ज बढ़ता रहा तो यह विश्व अर्थव्यवस्था के लिए खतरा बन सकता है। ऐसे में अगर मंदी का दौर आता है तो इसका सामना करना मुश्किल हो जाएगा।

क्‍या कहा आईएमएफ ने ?

आईएमएफ ने बुधवार को जारी अपनी फिस्कल मॉनिटर रिपोर्ट में कहा है कि ये कर्ज ग्लोबल जीडीपी के 225% तक पहुंच चुका है। इससे पहले वैश्विक कर्ज 2009 में अपने उच्च पर था। मुद्रा कोष ने कहा कि वैश्विक कर्ज इसी तरह बढ़ता रहा तो तमाम देश कर्ज नहीं चुका पाने की स्थिति में आ जाएंगे और दुनिया भीषण वैश्विक मंदी की चपेट में आ सकती है।

निजी कर्ज के मामले में चीन सबसे आगे

इस संबंध में छपी रिपोर्ट के हवाले से कहा गया है कि निजी कर्ज बढ़ने के मामले में चीन सबसे आगे है। दुनियाभर के कुल निजी खर्च का करीब 3 चौथाई हिस्सा अकेले चीन का है। आईएमएफ ने इस संबंध में निर्णायक कदम उठाने की सलाह दी है। उसने अमेरिका को सुझाव दिया है कि वह अपनी फिस्कल डेफिसिट नीति पर निर्णायक कदम उठाए। IMF ने चेतावनी दी है कि बढ़ते वैश्विक कर्ज का यह ट्रेंड इतना खतरनाक है कि वित्तीय स्थिति बिगड़ने पर तमाम देशों के लिए अपने कर्ज को चुकाना मुश्किल हो जाएगा।

कई देशों में कर्ज और जीडीपी का अनुपात खतरनाक स्‍तर पर

IMF के मुताबिक, कई प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में कुल कर्ज और जीडीपी का अनुपात खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है। प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में से करीब एक तिहाई के कर्ज उनकी जीडीपी के 85 प्रतिशत से ज्यादा हैं। यह आंकड़ा साल 2000 के आंकड़े से तीन गुना ज्यादा है। प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में कर्ज और जीडीपी के अनुपात के मामले में सबसे ऊपर जापान है। पिछले साल उसका कर्ज जीडीपी का 236 प्रतिशत था। दूसरे नंबर पर इटली है जहां कर्ज जीडीपी का 132 प्रतिशत है। तीसरे नंबर पर अमेरिका है जिसका कर्ज उसके जीडीपी का 108 प्रतिशत है। आईएमएफ के मुताबिक पिछले साल भारत का कर्ज उसके जीडीपी का 70.2 प्रतिशत था।

Related Post

शो में जाने से पहले अनूप जलोटा ने जसलीन के बारे में कही थी ऐसी बात, सुनकर भड़क सकती हैं

Posted by - September 19, 2018 0
मुंबई। भजन गायक अनूप जलोटा ने अपने रिलेशनशिप के बारे में खुलासा किया तो लोगों ने ट्विटर पर उनका मजाक…

राष्ट्रपति भवन का किचन देख खुद की आखों पर यकीन नहीं कर पाएंगे आप

Posted by - July 4, 2018 0
नई दिल्‍ली। पूरी दुनिया में भारत अपनी मेहमाननवाजी के लिए जाना जाता है। यहां आने वाले हर बड़े देश के राष्ट्राध्यक्ष…

फैन्स-क्रिटिक्स को नहीं भायी सलमान की ‘रेस’, पहले दिन औंधे मुंह गिरी फिल्म

Posted by - June 15, 2018 0
मुंबई। बॉलीवुड एक्टर सलमान खान की फिल्म ‘रेस 3’ ईद के मौके पर रिलीज हो गई है। ‘रेस 3’ सिनेमाघरों में 3D  में भी रिलीज हुई…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *