क्यूबा में 59 साल बाद ‘कास्त्रो युग’ का अंत, मिगेल डियाज बने नए राष्ट्रपति

53 0
  • दुनिया के आखिरी कम्युनिस्ट देशों में शुमार क्यूबा में 60 साल तक कास्त्रो परिवार का रहा राज

हवाना। क्यूबा में 59 सालों के बाद कास्त्रो परिवार के शासन का अंत हो गया है। मिगेल डियाज कैनल को गुरुवार औपचारिक रूप से क्यूबा का नया राष्ट्रपति चुन लिया गया। इसके साथ ही कम्युनिस्ट शासित इस देश में एक नए युग की शुरुआत हो गई। उन्हें ये पद राउल कास्त्रो के इस्तीफे के बाद मिला। 1959 के बाद से ऐसा पहली बार है जब राष्ट्रपति पद पर कास्त्रो परिवार का कोई शख्स नहीं होगा। पिछले छह दशकों से क्यूबा की सत्ता कास्त्रो बंधुओं के हाथों में थी।

कौन हैं मिगेल डियाज कैनल?

डियाज कैनल कम्युनिस्ट पार्टी के बड़े नेता हैं। वो 2013 से देश के उप राष्ट्रपति थे। डियाज कैनल ने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। वे राउल कास्त्रो के करीबियों में से एक रहे हैं। माना जा रहा है कि राउल के हटने के बाद भी क्यूबा की नीतियों में कोई खास बदलाव नहीं आएगा। अपने पहले भाषण में मिगेल ने कहा भी कि यहां उन लोगों के लिए बिल्कुल भी जगह नहीं है, जो पूंजीवाद का दौर देखना चाहते हैं।

राउल कास्‍त्रो 12 साल से थे राष्‍ट्रपति  

राउल कास्त्रो 2006 से (12 साल) इस पद पर रहे। इस्तीफा देने के बाद भी वे सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के प्रमुख बने रहेंगे। बता दें कि क्यूबा की क्रांति के बाद फिदेल कास्त्रो ने 1959 से 2006 तक देश का नेतृत्व किया। इसके बाद उनके भाई राउल कास्त्रो ने 2006 में राष्ट्रपति पद की जिम्मेदारी संभाली। अपने बड़े भाई फिदेल कास्त्रो के बीमार पड़ने के बाद उन्होंने ये जिम्मेदारी संभाली थी।

राउल कास्त्रो ने बदलीं क्यूबा की नीतियां

राउल कास्त्रो को भाई फिदेल कास्त्रो के बाद सत्ता मिली और उन्होंने कई ऐसे कदम उठाए जिससे क्यूबा का प्राइवेट सेक्टर 6 लाख लोगों तक पहुंच बनाने में कामयाब रहा। इस दौरान लोगों को घूमने-फिरने और ज्यादा बेहतर तरीके से जानकारी रखने की आजादी दी गई। 2008 में उन्‍होंने नई कृषि नीति के तहत किसानों को लाखों हेक्टेयर जमीन खेती के लिए देने का वादा किया। इसके बाद 2011 में कारोबार पर सरकारी नियमों में ढील दी गई। 2013 में पहली बार क्यूबा को दुनिया से जोड़ने की कोशिशें शुरू हुईं।

राउल ने अमेरिका के साथ कायम किया संबंध

बता दें कि क्यूबा क्रांति के बाद से ही दोनों कास्त्रो बंधु अमेरिका और पश्चिमी देशों की पूंजीवादी संस्कृति के विरोधी रहे। हालांकि, 2014 में पहली बार अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा और राउल कास्त्रो ने दोनों देशों राजनायिक संबंध बहाल करने पर फैसला किया। 2016 में ओबामा राउल से मिलने क्‍यूबा पहुंचे थे। 6 दशक के इतिहास में ये पहली बार था कि कोई अमेरिकी राष्ट्रपति क्यूबा गया हो।

Related Post

बीवियों में होती थी लड़ाई, परेशान पति ने की एक को कोठे में बेचने की कोशिश

Posted by - August 11, 2018 0
नई दिल्ली। पानीपत के रहने वाले सद्दाम हुसैन ने दो शादियां कर लीं। दोनों बीवियां साथ रहने लगीं। फिर उनके…

सुनंदा पुष्कर केस : कोर्ट ने खारिज की स्वामी की एसआईटी जांच की याचिका

Posted by - October 26, 2017 0
दिल्‍ली हाईकोर्ट ने कहा – मिसयूज न करें कोर्ट का, यह जनहित नहीं पॉलिटिकल याचिका सुनंदा पुष्कर मामले में सुब्रमण्यम स्वामी…

जम्मू-कश्मीर : रमजान में आतंकियों के खिलाफ सेना नहीं चलाएगी अभियान

Posted by - May 16, 2018 0
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सुरक्षाबलों को जारी किए निर्देश, लेकिन हमला हुआ तो जवाब देगी सेना नई दिल्ली। केंद्र सरकार…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *