WOW! दर्जी के बेटे को मिली सालाना 19 लाख रुपए की नौकरी

78 0

कोल्लम। केरल के इस शहर में रहने वाले जस्टिन फर्नांडिस ने अपने शहर का नाम रोशन कर दिया है। जस्टिन को 19 लाख रुपए सालाना की तनख्वाह वाली नौकरी मिली है। जस्टिन के पिता दर्जी हैं।

जस्टिन ने कहां से की पढ़ाई ?
जस्टिन फर्नांडिस ने आईआईएम नागपुर से एमबीए किया है। उनका परिवार बहुत गरीब है। जस्टिन के पास अपने साथियों के जितने संसाधन भी नहीं थे। अब उन्हें 19 लाख रुपए सालाना के पैकेज वाली जॉब मिली है। आईआईएम नागपुर में अब तक किसी और छात्र को इतने पैकेज की नौकरी नहीं मिली थी। यानी इस मामले में जस्टिन ने रिकॉर्ड बनाया है।

पढ़ाई पर करते रहे फोकस
जस्टिन अपने बचपन से ही पढ़ाई और करियर पर फोकस करते रहे। उनके परिवार के लिए दो वक्त का खाना जुटाना भी भारी पड़ता था। ऐसे में जस्टिन हमेशा सोचते कि बड़े होने पर अच्छी नौकरी करके परिवार को दिक्कतों से बाहर निकालेंगे।

किस कंपनी ने दी है जस्टिन को नौकरी ?
जस्टिन को हैदराबाद की वैल्यू लैब्स कंपनी ने असिस्टेंट डायरेक्टर का पद और 19 लाख रुपये सालाना का पैकेज दिया है।

दर्जी का काम करते थे दादा और पिता
जस्टिन फर्नांडिस के दादा टेलर थे। उनके पिता भी टेलर थे, लेकिन उद्योगीकरण से पिता को काफी नुकसान हुआ। रेडीमेड कपड़ा मार्केट ने भी रोजगार को नुकसान पहुंचाया। एक दौर ऐसा भी था, जब परिवार दाने-दाने को मोहताज होने के कगार पर पहुंच गया था। सरकारी राशन से घर चलता था। परिवार की कमाई उस वक्त साल में करीब 50 हजार रुपए ही होती थी।

आंटी ने बनाया भविष्य
जस्टिन फर्नांडिस के मुताबिक उनकी आंटी ने उनकी और बहन की 12वीं तक की पढ़ाई अपने खर्चे से कराई। जस्टिन ने स्कॉलरशिप की मदद से इंजीनियरिंग की डिग्री ली। फिर एक सॉफ्टवेयर कंपनी में दो साल काम किया और फिर आईआईएम में एडमिशन लिया था।

Related Post

रणबीर और अर्जुन कपूर के जूतों की कीमत सुनकर आपको लगेगा झटका, इतने महंगे हैं इनके शौक !

Posted by - October 1, 2018 0
मुंबई। बॉलीवुड सेलेब्स अपने महंगे शौक के लिए जाने जाते हैं। स्टार्स अपनी महंगी कार से लेकर कीमती कपड़े और…

भारत-बांग्लादेश के बीच ‘बंधन एक्सप्रेस’ को पीएम ने दिखाई हरी झंडी

Posted by - November 9, 2017 0
कोलकाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-बांग्लादेश के बीच चलने वाली बंधन एक्सप्रेस ट्रेन को गुरुवार को अपनी समकक्ष बांग्लादेश की…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *