कैश की कमी : कर्नाटक-आंध्र में इनकम टैक्स छापे, 2000 के नोट कालाधन में बदले !

136 0

नई दिल्ली। देश के 11 राज्यों में एटीएम में कैश न मिलने की हालत बनने के बाद सरकारी तंत्र ने कार्रवाई तेज कर दी है। इस कड़ी में इनकम टैक्स अफसरों ने कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में 30-35 जगह छापे मारे हैं। सरकार को अंदेशा है कि 2000 के नोट कालाधन में बदल गए हैं। ऐसे में इनकी किल्लत की वजह से ही एटीएम खाली होने का संकट खड़ा हुआ है।

रिजर्व बैंक ने क्या कदम उठाए ?
उधर, रिजर्व बैंक ने अपने पांचों प्रिंटिंग प्रेस में 500 के नोट छापने में तेजी ला दी है। बिहार में रिजर्व बैंक ने 800 से 900 करोड़ रुपए एटीएम के जरिए दिया है। फिर भी देखा जाए तो, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में एटीएम खाली होने की समस्या ज्यादा गंभीर नजर आ रही है।

छापों में कितनी रकम मिली ?
करेंसी नोट जमाखोरी करने वालों पर इनकम टैक्स के छापों से हालांकि ज्यादा नकदी नहीं मिली, लेकिन इनकम टैक्स विभाग छापों में और इजाफा करने जा रहा है। दरअसल, 2000 के पांच लाख करोड़ नोट नोटबंदी के बाद छापे गए थे, लेकिन इनकी फिलहाल भीषण कमी हो गई है।

ठेकेदारों पर शक गहराया
कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में इनकम टैक्स विभाग ने पाया है कि बड़े ठेकेदारों ने छोटे ठेकेदारों को चेक से पेमेंट किया। छोटे ठेकेदारों ने चेक भुनाकर कैश निकाला, लेकिन प्रोजेक्ट पर नहीं लगाया। इसी से अंदेशा हो रहा है कि 2000 के नोट जमा कर लिए गए और ये कालाधन बन गया है।

Related Post

जनधन खाता है तो रहें सजग, 4 बार से ज्यादा लेन-देन किया तो नहीं मिलेंगी सुविधाएं

Posted by - May 28, 2018 0
मुंबई। पीएम बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने सबसे पहले लोगों को बैंकों से जोड़ने के लिए महत्वाकांक्षी जनधन खाता…

प्रद्युम्न मर्डर : सीबीआई के रडार पर आए एसआईटी के 4 सदस्यों से पूछताछ

Posted by - November 14, 2017 0
गुरुग्राम के रेयान स्कूल में हुए प्रद्युम्न मर्डर केस की जांच के दौरान सबूतों से छेड़छाड़ के आरोप में सीबीआई…

कर्नाटक का असर : 15 महीने बाद गोवा में सरकार बनाने का दावा पेश करेगी कांग्रेस

Posted by - May 17, 2018 0
कांग्रेस बोली – गोवा, मणिपुर व मेघालय में भी लागू हो ‘कर्नाटक मॉडल’, सबसे बड़ी पार्टी को मिले मौका बिहार…

पढ़ेंगे-लिखेंगे तो बनेंगे नवाब, टीवी-मोबाइल करता है बच्चों का दिमाग खराब

Posted by - December 11, 2018 0
लंदन। पुरानी कहावत है, “पढ़ोगे-लिखोगे बनोगे नवाब, खेलोगे-कूदोगे होगे खराब”। एक नई स्टडी भी इस पुरानी कहावत को सही ठहरा…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *