टीपू सुलतान की तलवार हुई लापता, विजय माल्या ने थी लंदन से खरीदी

564 0

लंदन। मैसूर के शेर कहे जाने वाले टीपू सुलतान की तलवार का अता-पता नहीं है। बैंकों में हजारों करोड़ की देनदारी कर ब्रिटेन भाग जाने वाले विजय माल्या ने 2004 में 1 करोड़ 50 लाख रुपए में ये तलवार एक नीलामी में खरीदी थी।

2016 से लापता है तलवार
ब्रिटेन के कोर्ट में विजय माल्या के प्रत्यर्पण के लिए दाखिल अर्जी पर सुनवाई के दौरान खुलासा हुआ है कि माल्या के पास रखी टीपू सुलतान की तलवार लापता है। माल्या के वकीलों ने कोर्ट को बताया कि 2016 में शराब कारोबारी ने तलवार किसी को दे दी। वकीलों के मुताबिक, माल्या के घरवालों ने कहा कि जबसे तलवार घर आई है, तभी से बुरा दौर शुरू हो गया है। इसके बाद माल्या ने तलवार किसी को दे दी। अब विजय माल्या के अलावा किसी को नहीं पता कि टीपू सुलतान की तलवार आखिर है कहां। बता दें कि विजय माल्या को बैंकों के करीब 9 हजार करोड़ रुपए चुकाने हैं।

कितनी है टीपू की तलवार की कीमत
भारतीय बैंकों के वकील ने कोर्ट को बताया कि मौजूदा दौर में टीपू सुलतान की तलवार की कीमत 1 लाख 88 हजार पौंड है। जो भारतीय मुद्रा में करीब 1 करोड़ 80 लाख होती है।

टीपू के वंशजों को नहीं दी थी तलवार
एक अंग्रेजी अखबार से टीपू सुलतान के वशंज साहेबजादा मंसूर अली टीपू ने कहा कि वो माल्या से तलवार खरीदना चाहते थे, लेकिन माल्या ने उन्हें तलवार नहीं बेची। मंसूर अली टीपू के मुताबिक अब ये तलवार श्रीरंगपट्टनम में टीपू पर बने म्यूजियम में भी नहीं है और न ही टीपू के किसी वंशज के पास है। दरअसल, माल्या ने कभी बताया ही नहीं कि टीपू की तलवार आखिर रखी कहां है।

माल्या ने लहराई थी तलवार
बता दें कि 2004 में लंदन में हुई नीलामी में टीपू की तलवार खरीदने के बाद विजय माल्या की खूब तारीफ हुई थी। टीपू की ये तलवार अंग्रेजों ने युद्ध में उनकी मौत के बाद हासिल की थी। 2004 में जब विजय माल्या जनता पार्टी के अध्यक्ष थे, तो कर्नाटक में विधानसभा चुनाव था। तब कई चुनावी मंचों पर विजय माल्या ने ये तलवार लहराई थी।

Related Post

हिमाचल प्रदेश के केलांग में सुरंग के भीतर बनेगा देश का पहला रेलवे स्टेशन

Posted by - October 18, 2018 0
नई दिल्ली। कोलकाता और दिल्ली में तो कई ऐसे मेट्रो स्टेशन हैं, जो जमीन के नीचे बने हैं। इनमें दिल्‍ली…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *