कठुआ-उन्नाव पर मनमोहन ने कसा पीएम मोदी पर तंज, कहा – ‘आप तो बोलें’

50 0
  • पूर्व प्रधानमंत्री ने दोनों घटनाओं पर लंबे समय तक पीएम मोदी की चुप्पी पर साधा निशाना
  • मनमोहन सिंह ने कहा – ‘जो कभी मुझे बोलने की सलाह देते थे, उस पर खुद भी तो अमल करें’

नई दिल्‍ली। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कठुआ और उन्नाव गैंगरेप मामले में लंबे समय तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर निशाना साधा है। उन्होंने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा, ‘कभी जो सलाह मुझे दी थी, अब उस पर मोदी को खुद अमल करना चाहिए और ऐसे मौकों पर कुछ बोलना चाहिए।’

क्‍या कहा मनमोहन सिंह ने ?

दरअसल, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने उन्नाव और कठुआ मामले पर काफी दिन तक पीएम मोदी के चुप रहने पर चुटकी ली। उन्होंने मोदी से कहा है कि वह मुझे दी हुई सलाह पर पहले खुद अमल करें। बता दें कि भाजपा ‘मौन मोहन सिंह’ कहकर उनका कई बार मजाक बना चुकी है। एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में मनमोहन सिंह ने कहा कि उन्हें खुशी है कि लंबे समय तक चुप रहने के बाद आखिर पीएम मोदी आंबेडकर की जयंती पर कुछ बोले। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा था, ‘भारत की बेटियों को न्याय मिलेगा और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।’

कांग्रेस ने किया था कानून में बदलाव

मनमोहन सिंह ने कहा कि दिल्ली में 2012 में निर्भया के साथ हुई गैंगरेप की घटना के बाद कांग्रेस पार्टी और उनकी सरकार ने जरूरी कदम उठाए थे। उन्‍होंने कहा कि इस घटना के बाद ही बलात्कार के मामलों को लेकर कानून में बदलाव किया गया था। उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकारें कानून और व्यवस्था, खासकर महिलाओं की सुरक्षा, मुस्लिमों की हत्या और दलितों के उत्पीड़न को लेकर कुछ नहीं कर रहीं।

महबूबा मुफ्ती को दी सलाह

डॉ. सिंह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर की मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती को कठुआ मामले को और ज्यादा गंभीरता से हैंडल करना चाहिए था। उन्हें शुरू से ही इस मसले को अपने हाथ में रखना चाहिए था। उन्होंने कहा, ‘हो सकता है कि उन पर अपने सहयोगी दल बीजेपी का दबाव रहा हो, खासकर यह देखते हुए कि बीजेपी के दो मंत्री बलात्कार के आरोपियों के समर्थन में आ गए थे।’

Related Post

लखनऊ का विकासनगर हो रहा है लगातार प्रदूषित, इंदिरानगर में सबसे ज्यादा दूषित हवा

Posted by - November 2, 2018 0
लखनऊ। लखनऊ का विकासनगर लगातार प्रदूषित हो रहा है। यहां हवा में सबसे ज्यादा प्रदूषण मापा गया है। बीते 10…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *