डेटा लीक मामले में फिर उछला कांग्रेस का नाम, कैंब्रिज एनालिटिका की रिपोर्ट उजागर

33 0

नई दिल्ली। ब्रिटिश कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका की ओर से फेसबुक के जरिए यूजर्स का डेटा चुराए जाने को लेकर बीते दिनों दुनियाभर में हंगामा मचा था। उस वक्त बीजेपी ने कहा था कि कांग्रेस ने कैंब्रिज एनालिटिका की मदद ली है। कांग्रेस ने बीजेपी का ये आरोप सिरे से खारिज करते हुए कैंब्रिज एनालिटिका से कोई संबंध होने से इनकार किया था, लेकिन कांग्रेस के ही बागी नेता शहजाद पूनावाला ने एक रिपोर्ट जारी कर दावा किया है कि कांग्रेस के ‘हाथ’ को कैंब्रिज एनालिटिका का साथ मिला है।

पूनावाला की जारी रिपोर्ट में क्या ?
शहजाद पूनावाला ने दावा किया है कि कैंब्रिज एनालिटिका ने कांग्रेस को लोकसभा चुनाव 2019 के मैनेजमेंट की पेशकश की थी। इसके लिए कंपनी ने एक रिपोर्ट बनाकर कांग्रेस आलाकमान को दिया था। ये रिपोर्ट 49 पेज की है।

रिपोर्ट का नाम क्या ?

इस रिपोर्ट का शीर्षक ‘डेटा ड्रिवन कैंपेन: द पाथ ऑफ द 2019 लोकसभा’ है। रिपोर्ट 2017 के अगस्त महीने में तैयार की गई है। रिपोर्ट के मुताबिक इसे कैंब्रिज एनालिटिका के सीईओ रहे एलेक्जेंडर निक्स ने तैयार किया था। लोकसभा चुनाव के अलावा कर्नाटक, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों का प्लान भी इसमें दिया गया है। साथ ही बताया गया है कि राष्ट्रीय स्तर पर लोगों का डेटा किस तरह तैयार किया जाए।

रिपोर्ट बनवाने में कितना खर्च ?
शहजाद पूनावाला का दावा है कि कैंब्रिज एनालिटिका से रिपोर्ट बनवाने में 3 लाख 89 हजार 460 डॉलर खर्च हुए। पूरा मकसद डेटा माइनिंग, नेशनल डेटा एनालिसिस, डेटा ड्रिवन कैंपेन और मीडिया मॉनीटरिंग करना था। अपनी रिपोर्ट में कैंब्रिज एनालिटिका ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के दौरान डोनाल्ड ट्रंप के पक्ष में चलाए गए कैंपेन का जिक्र भी किया है।

कैसे इकट्ठा करना था डेटा ?

कैंब्रिज एनालिटिका ने जो प्लान रिपोर्ट में दिया था, उसके मुताबिक डेटा इंजीनियर्स को वेबसाइट्स, मोबाइल एप्स, ट्विटर और फेसबुक से डेटा इकट्ठा करना था। रिपोर्ट में ऐसी व्यवस्था की बात है, जिसमें कांग्रेस की वेबसाइट पर जाने या कांग्रेस कार्यकर्ता से जुड़ने पर किसी शख्स की डिटेल अपने आप रिकॉर्ड हो जाती। पूनावाला ने दावा किया है कि कैंब्रिज एनालिटिका के सीईओ रहे निक्स ने राहुल गांधी को रिपोर्ट दी थी। उन्होंने कहा कि बीते दिनों राहुल गांधी ने सोशल मीडिया में इसी के आधार पर बदलाव किया है।

कैंब्रिज एनालिटिका के पूर्व कर्मचारी ने लिया था नाम
बता दें कि कैंब्रिज एनालिटिका के कर्मचारी रहे क्रिस्टोफर विली ने डेटा लीक का खुलासा करते वक्त कंपनी और कांग्रेस के बीच संबंध होने की बात कही थी। इसके बाद कैंब्रिज एनालिटिका के सीईओ रहते वक्त एलेक्जेंडर निक्स के लंदन के दफ्तर की फोटो भी सामने आई थी। इस फोटो में दीवार पर कांग्रेस के चुनाव निशान का पोस्टर चिपका हुआ दिख रहा था।

Related Post

दो भारतीयों को भी फोटोग्राफी के लिए मिला पुलित्जर सम्मान

Posted by - April 17, 2018 0
‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ और ‘द न्यूयॉर्कर’ को बेस्ट जर्नलिज्‍म के लिए मिला पुलित्जर अवॉर्ड न्यूयॉर्क। पुलित्‍जर पुरस्‍कार समिति ने 102वें पु‍लित्‍जर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *