मक्का मस्जिद फैसला : ओवैसी और कांग्रेस ने NIA पर उठाए सवाल

52 0
  • ओवैसी ने लगाया राजनीतिक दखल का आरोप, बोले – एनआईए ने मामले में नहीं की ठीक से पैरवी
  • भाजपा ने कहा – कांग्रेस के चेहरे से उतरा मुखौटा, पूछा, भगवा आतंकवाद पर माफी मांगेगी कांग्रेस ?

नई दिल्ली। मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) की विशेष अदालत द्वारा स्‍वामी असीमानंद समेत सभी 5 आरोपियों के बरी कर देने के बाद राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने फैसले को लेकर एनआई पर हमला बोला है। उन्‍होंने इस मामले में राजनीतिक दखल का आरोप लगाया है। उधर, कांग्रेस ने भी जांच एजेंसी पर सवाल उठाए हैं। दूसरी तरफ भाजपा ने इस मसले पर कांग्रेस से माफी मांगने को कहा है। सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने तो चिदंबरम पर केस दर्ज करने की मांग कर डाली है।

NIA बहरा और अंधा तोता : ओवैसी

इस फैसले पर ट्वीट करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘जून 2014 के बाद मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस मामले में ज्‍यादातर गवाह अपने बयान से पलट गए।’ उन्‍होंने आरोप लगाया कि ‘या तो NIA ने मामले में ठीक ढंग से पैरवी नहीं की या फिर ‘राजनीतिक मास्टर’ ने उन्हें ऐसा करने नहीं दिया। आपराधिक मामले में जबतक ऐसी पक्षपाती चीजें होंगी, तबतक न्याय नहीं मिलेगा।’ यही नहीं, ओवैसी ने NIA को बहरा और अंधा तोता तक कह दिया।

कांग्रेस ने कहा, जांच में हुआ पक्षपात

कांग्रेस ने NIA की जांच को पक्षपाती करार दिया है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने आरोप लगाया कि सभी जांच एजेंसियां केंद्र सरकार की कठपुतली बन गई हैं। उन्‍होंने मांग की कि इस मामले की जांच कोर्ट की निगरानी में हो। वहीं कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने कहा कि इस मामले में दर्जनों गवाह बयान से मुकर गए। इस पर सवाल तो खड़े होते ही हैं।

‘हिंदू टेरर’ शब्द के लिए चिदंबरम पर हो केस : स्वामी

उधर, बीजेपी नेता सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने यूपीए सरकार के कार्यकाल में ‘भगवा आतंकवाद’ शब्द गढ़ने को लेकर पूर्व गृहमंत्री पी. चिदंबरम पर निशाना साधा। स्वामी ने एक न्‍यूज चैनल से बातचीत में कहा, ‘हिंदू टेरर थिअरी के लिए पूर्व गृहमंत्री पर केस होना चाहिए। उन्होंने हिंदू टेरर शब्द के जरिए हिंदुओं पर सवाल उठाए।’ स्वामी ने कहा, ‘इसके पीछे बड़ी साजिश थी। हिंदू टेरर शब्द का प्रयोग कर वे RSS को निशाना बनाना चाहते थे और उसे बैन करना चाहते थे।’

क्या कहा था चिदंबरम ने ?

पूर्व गृह मंत्री पी. चिदंबरम ने अगस्त, 2010 में पुलिस अधिकारियों के एक सम्मेलन के दौरान कहा था, ‘देश के कई बम धमाकों के पीछे भगवा आतंकवाद का हाथ है। भगवा आतंकवाद देश के लिए नई चुनौती बनकर उभर रहा है।’ चिदंबरम के इस बयान पर उस समय विपक्ष में रही बीजेपी-शिवसेना ने संसद में भी हंगामा किया था।

भगवा आतंक पर माफी मांगें राहुल : भाजपा

बीजेपी ने इस मामले पर कहा, आज कांग्रेस के चेहरे से मुखौटा उतर गया है। भाजपा प्रवक्‍ता संबित पात्रा ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा – ‘कांग्रेस जिस प्रकार से हिन्दू आतंकवाद के नाम पर हिन्दू धर्म को बदनाम कर तुष्टिकरण की राजनीति कर रही थी, उसका आज पर्दाफाश हो गया है।’ बीजेपी प्रवक्ता ने कांग्रेस से सवाल किया, ‘क्या राहुल गांधी इंडिया गेट पर क्षमा याचना के लिए रात 12 बजे आएंगे?’

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *