रंग लाई अफरोज की मेहनत, 20 साल बाद वर्सोवा बीच पर लौटे दुर्लभ कछुए

42 0

मुंबई। यहां के वर्सोवा बीच पर लगभग 20 साल बाद दुर्लभ प्रजाति के ऑलिव रिडले कछुए लौट आए हैं। बीच पर ऑलिव रिडले के करीब 80 बच्चे देखने को मिले। दुर्लभ प्रजाति के इन ऑलिव रिडले कछुओं को वापस लाने का पूरा श्रेय समाजसेवी अफरोज शाह और उनकी युवाओं की टीम को जाता है। अफरोज शाह की इस पहल ने इसे मुंबई के लिए ऐतिहासिक क्षण बताया।

अफरोज ने 2015 में शुरू की तटों की सफाई

आपको बता दें कि अफरोज शाह ने ही 2015 में ‘बीच क्लीन-अप ड्राइव’ की शुरुआत कर समुद्र तटों की सफाई की जिम्मेदारी अपने हाथों में ली थी । इस पहल को शुरू करने के पीछे उनका मकसद ये था कि इन दुर्लभ प्रजाति के कछुओं को वो सुरक्षित कर सकें। उन्होंने वन अधिकारियों को भी इसकी जानकारी दी और ट्विटर पर तस्वीरें भी साझा कीं।

बिग बी ने भी की अफरोज शाह की सराहना

वर्सोवा बीच को साफ करने के लिए अफरोज शाह और उनकी टीम ने 127 हफ्तों तक मेहनत की। बिग बी ने भी सफाई की सराहना की थी और बीते वर्ष वर्सोवा बीच की सफाई के लिए आगे आए थे। उन्होंने अफरोज शाह को बीच की सफाई के लिए एक ट्रैक्टर व एक्सकेवेटर भी भेंट किया था।

गर्म पानी में रहते हैं

ओलिव रिडली समुद्री कछुए को पेसिफिक रिडली भी कहा जाता है। कछुओं की ये प्रजाति गर्म और ट्रॉपिकल पानी में पाई जाती है। ये ज्यादातर पेसिफिक और इंडियन ओशन में पाए जाते हैं।

अंडे देने के लिए सुरक्षित स्थान ढूंढते हैं

अतिरिक्त प्रमुख मुख्य वन संरक्षक एन वासुदेवन के मुताबिक, ‘बीते कई वर्षों में वर्सोवा बीच पर कछुओं को नहीं देखा गया। वे ऐसी जगह अंडे रखते हैं, जो सुरक्षित हो।’

Related Post

अमानवीय : बिहार में पंचायत के फरमान पर लड़की को खंभे से बांधकर लात-घूंसों से पीटा

Posted by - May 6, 2018 0
पश्चिमी चंपारण के बगहा जिले का मामला, पिटाई का वीडियो वायरल, पुलिस ने 4 को किया गिरफ्तार बगहा (पश्चिमी चंपारण)। बिहार…

नरोदा पाटिया मामला : गुजरात HC ने बाबू बजरंगी की सजा रखी बरकरार, कोडनानी निर्दोष करार

Posted by - April 20, 2018 0
बाबू बजरंगी को थोड़ी राहत, ताउम्र उम्रकैद की सजा को घटाकर 21 साल कैद में तब्‍दील किया अहमदाबाद। गुजरात दंगों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *