CWG में गोल्ड जीतने वाली पूनम पर ईंट-पत्थर से हमला, भागकर बचाई जान

215 0
  • वाराणसी में अपनी बुआ के घर गई थीं पूनम, बुआ का प्रधान के घरवालों से हुआ था झगड़ा

वाराणसी। कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को गोल्ड मेडल मेडल दिलाने वाली वेटलिफ्टर पूनव यादव पर वाराणसी में शनिवार को कुछ लोगों ने हमला कर दिया। उस वक्त वे अपनी बुआ से मिलने बनारस से करीब 30 किलोमीटर दूर मुंगवार गांव गई थीं।

हमले में घायल पूनम की बुआ की बेटी

क्‍या है मामला ?

बताया जा रहा है कि पूनम शनिवार (14 अप्रैल) को रोहनिया क्षेत्र के मुंगवार गांव में अपने मौसी के घर गईं थीं। पूनम ने पुलिस को बताया कि गांव में उनकी बुआ का पड़ोस में रहने वाले गांव के प्रधान से झगड़ा हुआ था। बात बढ़ी तो पूनम ने बीच-बचाव का प्रयास किया। इस पर प्रधान ने अपने समर्थकों के साथ उनके ऊपर भी ईंट-पत्थरों से हमला कर दिया। वे अपने रिश्तेदारों के साथ वहां से जान बचाकर भागीं। इसके बाद पूनम ने 100 नंबर डायल कर पुलिस को बुलाया।

जमीन को लेकर है विवाद

पूनम के भाई आशुतोष ने बताया कि उनकी बुआ का प्रधान से जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। शनिवार को झगड़ा हुआ तो पूनम ने बीच-बचाव करने की कोशिश की, लेकिन प्रधान और उनके समर्थकों ने उनके ऊपर भी हमला कर दिया। पूनम के पिता और रिश्तेदार फिलहाल थाने में हैं। पुलिस का कहना है कि उसने किसी तरह पूनम को बचाया।

222 किलो वजन उठाकर जीता था गोल्ड

पूनम ने ऑस्‍ट्रेलिया के गोल्‍ड कोस्‍ट में चल रहे कॉमनवेल्‍थ गेम में 69 किलोग्राम कैटेगरी में स्नैच में 100 किलोग्राम और क्लीन एंड जर्क में 122 किलोग्राम वजन के साथ कुल 222 किलोग्राम वजन उठाया था। उनके और भारत के खाते में गोल्‍ड मेडल आया था।

Related Post

कर्नाटक : बीजेपी के केजी बोपय्या बने प्रोटेम स्पीकर, कांग्रेस ने उठाए सवाल

Posted by - May 18, 2018 0
बेंगलुरु। कर्नाटक के गवर्नर वजुभाई वाला ने केजी बोपय्या को विधानसभा का प्रोटेम यानी अस्थायी स्पीकर नियुक्त किया है। बोपय्या…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *