2022 में दौड़ेगी पहली बुलेट ट्रेन, 250 से 3000 रुपये तक होगा किराया

101 0
  • सिर्फ दो घंटे में पहुंच जाएंगे मुंबई से अहमदाबाद, 40 सेकेंड से ज्‍यादा नहीं होगी लेट
  • 508 किलोमीटर लंबे इस प्रोजेक्‍ट पर 1 लाख 10 हजार करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्‍ट बुलेट ट्रेन के लिए तैयारियां जोरों पर हैं। उम्‍मीद है कि यह प्रोजेक्‍ट 15 अगस्‍त, 2022 तक पूरा हो जाएगा और अहमदाबाद-मुंबई के बीच ट्रेन का परिचालन शुरू हो जाएगा। 508 किलोमीटर लंबी इस परियोजना पर 1 लाख 10 हजार करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है।

320 किमी प्रति घंटा होगी स्‍पीड

मुंबई से अहमदाबाद के बीच प्रस्तावित बुलेट ट्रेन की ‘टॉप स्पीड’ 320 किमी/घंटा होगी। इसके जरिए मुंबई से अहमदाबाद या अहमदाबाद से मुंबई का का सफर महज दो घंटे में पूरा किया जा सकेगा। एक अधिकारी ने बताया कि ठाणे और बांद्रा-कुर्ला कॉम्पलेक्स के बीच यात्रा में हाई स्पीड ट्रेन से 15 मिनट लगेंगे, जबकि अभी टैक्‍सी से करीब डेढ़ घंटे का समय लगता है। यह ट्रेन 40 सेकेंड से ज्यादा लेट नहीं होगी।

अधिकतम किराया 3000 रुपये

जब बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की चर्चा शुरू हुई तो लोगों के बीच इसके किराये को लेकर काफी उत्‍सुकता थी। लोग सोच रहे थे कि इसका किराया आम आदमी की पहुंच से बाहर होगा, लेकिन बता दें कि इसका शुरुआती किराया 250 रुपये होगा। इसके बाद दूरी के हिसाब से किराया रहेगा। नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड (NHSRCL) के एमडी अचल खरे ने बताया कि मुंबई और अहमदाबाद के बीच किराया 3,000 रुपये रहने का अनुमान है। वहीं बांद्रा-कुर्ला कॉम्पलेक्स और ठाणे के बीच किराया 250 रुपये होगा। ट्रेन में एक ‘बिजनेस क्लास’ भी होगा, जिसका किराया 3,000 रुपये अधिक होगा।

एक ट्रेन में होंगे 10 डिब्बे

खरे ने बताया कि एक ट्रेन में 10 डिब्बे होंगे, जिसमें से एक ‘बिजनेस क्लास’ होगा। उन्‍होंने बताया कि परियोजना के तहत निर्माण कार्य इस साल दिसंबर में शुरू होने की उम्‍मीद है क्योंकि तबतक भूमि अधिग्रहण का काम पूरा हो जाएगा। मंत्रालय को परियोजना के लिए 1,415 हेक्टेयर भूमि की जरूरत होगी और इसने अधिग्रहण के लिए 10,000 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं।

समुद्र के नीचे ट्रैक बनाएगा जापान
खरे ने बताया कि भारतीय ठेकेदार 460 किमी का काम करेंगे जबकि जापान समुद्र के नीचे सिर्फ 21 किमी रेलमार्ग का निर्माण करेगा। खरे ने कहा कि सुरक्षा और समय पालन हाई स्पीड कॉरीडोर की विशेषता होगी। भारत से 360 लोगों को प्रशिक्षण के लिए जापान भेजा जाएगा।

Related Post

अमेठी की छात्रा के सवालों पर राहुल का एक ही जवाब, ‘मोदी-योगी से पूछिए’

Posted by - April 17, 2018 0
अमेठी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तीन दिन के दौरे पर अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी में हैं। यहां एक सरकारी स्कूल…

31 घंटे रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन के बाद बोरवेल से सही-सलामत निकाली गई 3 साल की सना

Posted by - August 1, 2018 0
मुंगेर में एनडीआरएफ के जवानों और सेना की टीम ने कड़ी मशक्‍कत के बाद पाई सफलता मुंगेर। बिहार के मुंगेर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *