गजब ! माता-पिता की मौत के 4 साल बाद चीन में बच्चे ने लिया जन्म

212 0

बीजिंग। चीन में माता-पिता की मौत के 4 साल बाद एक बच्चे का जन्म हुआ है। बच्चे के माता-पिता की 2013 में सड़क हादसे में मौत हो गई थी।

माता-पिता की मौत के बाद जन्म कैसे ?
2013 में सड़क हादसे में मारे जाने से पहले बच्चे के माता-पिता प्रजनन न कर पाने की वजह से अपना इलाज करा रहे थे। दोनों की मौत के बाद घरवालों ने दंपति के फर्टिलाइज्ड एम्ब्रियो को पाने के लिए कानून का सहारा लिया। इन एम्ब्रियो को चीन के नानजिंग प्रांत के एक पूर्वी शहर के अस्पताल में रखा गया था।

सरोगेसी से हुआ जन्म
एम्ब्रियो को लंबी कानूनी लड़ाई के बाद हासिल किया गया। इसके बाद उसके लिए सरोगेट मदर की तलाश की गई। बच्चे को 9 दिसंबर, 2017 को लाओस में सरोगेसी के जरिए जन्म दिया गया। बता दें कि चीन में सरोगेसी अवैध है और इसके जरिए बच्चा चाहने वालों को विदेश जाना पड़ता है। बच्चे के दादा और दादी को एम्ब्रियो को चीन से बाहर ले जाने के लिए सरकारी नियमों के कई रोड़ों को हटाना पड़ा।

बच्चे को चीन लाना भी बनी चुनौती
बच्चे को वापस चीन लाना भी दादा और दादी के लिए चुनौती बनी। सरोगेसी के जरिए विदेश में जन्मे बच्चों को चीन लाने के लिए डीएनए टेस्ट कराना होता है, ताकि साबित हो कि बच्चे की मां या पिता में से एक चीन का नागरिक है। ऐसे में सरोगेट मां को टूरिस्ट वीजा पर चीन लाया गया। जहां उसने गुआंगझाओ अस्पताल में बच्चे को जन्म दिया। बच्चे को अस्पताल में 15 दिन रखा गया। इस दौरान उसके डीएनए का दादा-दादी और नाना-नानी के डीएनए से मैच कराया गया।

Related Post

जाने-अनजाने आपको रोज किसी न किसी मुद्दे पर दुखी करते हैं FACEBOOK FRIENDS

Posted by - September 28, 2018 0
बुफेलो (न्यूयॉर्क)। अमेरिका की बुफेलो यूनिवर्सिटी में हुई रिसर्च सोशल मीडिया यूजर्स को इसके खतरों के प्रति आगाह कर रही…

जिन्ना का विरोध सही, लेकिन गोडसे के मंदिर पर भी बोलें लोग : जावेद अख्तर

Posted by - May 3, 2018 0
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में जिन्‍ना की तस्‍वीर के विवाद में गीतकार जावेद अख्‍तर भी कूदे नई दिल्‍ली। वरिष्ठ गीतकार और…

शिया वक्फ बोर्ड ने कहा – अयोध्या में राममंदिर और लखनऊ में बने मस्जिद

Posted by - November 20, 2017 0
नई दिल्ली: राम मंदिर पर चल रहे विवाद के बीच केंद्रीय शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सैयद वसीम रिजवी का बड़ा बयान सामने…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *