बीजेपी विधायक पर रेप का गंभीर आरोप, लेकिन DGP की नजर में माननीय !

38 0

लखनऊ। उन्नाव की बांगरमऊ सीट से बीजेपी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर नाबालिग से रेप करने और फिर उसका गैंगरेप कराने का गंभीर आरोप है। इस मामले में एसआईटी की रिपोर्ट के बाद विधायक के खिलाफ पुलिस ने एफआईआर भी दर्ज कर ली है, लेकिन विधायक की गिरफ्तारी नहीं हुई है। इतना ही नहीं, यूपी पुलिस के मुखिया यानी डीजीपी ओपी सिंह विधायक को अब भी माननीय मान रहे हैं।

डीजीपी ने क्या कहा ?
दरअसल, उन्नाव के सनसनीखेज रेप और रेप पीड़ित के पिता की हत्या के मामले में योगी सरकार के कदम के बारे में प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार और डीजीपी ओपी सिंह मीडिया से मुखातिब हुए थे। इस दौरान डीजीपी ने कई बार बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को माननीय कहकर संबोधित किया।

मीडिया के टोकने पर दी ये सफाई
डीजीपी ओपी सिंह ने जब कई बार रेप के आरोपी विधायक को माननीय कहा, तो मीडिया के लोगों ने उनसे इस बारे में सवाल पूछा। इस पर डीजीपी ओपी सिंह ने सफाई दी कि विधायक पर फिलहाल आरोप हैं। ऐसे में उन्हें माननीय कहना गलत नहीं है।

विधायक का भाई जा चुका है जेल
बता दें कि बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का भाई अतुल फिलहाल जेल में है। उस पर रेप पीड़ित युवती के पिता से मारपीट कर उन्हें मौत के मुंह में पहुंचाने का आरोप लगा है। विधायक पर बुधवार रात माखी थाने में रेप, अगवा करने और पॉक्सो एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज हुई थी। हालांकि, विधायक का कहना है कि वो बेगुनाह हैं।

क्यों नहीं किया गिरफ्तार ?
डीजीपी से जब मीडिया ने पूछा कि एफआईआर होने के बावजूद विधायक को गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया, तो उनका कहना था कि अभी सिर्फ आरोप है। विधायक गिरफ्तार होंगे या नहीं, ये फैसला आगे की जांच करने वाली सीबीआई करेगी। योगी सरकार ने बुधवार रात को मामले की जांच सीबीआई को सौंपने का फैसला किया था।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *