अमेरिका में रंगभेद की शिकार हुईं प्रियंका चोपड़ा, हाथ से निकली हॉलीवुड की फिल्म

31 0

लॉस एंजेलेस। मानव अधिकारों पर दुनिया को नसीहत देने वाले अमेरिका में रंगभेद और नस्लभेद अब भी बरकार है। इसका शिकार बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा हुईं। हालांकि अमेरिका में रंगभेद और नस्लभेद को करीब 80 साल पहले कानून बनाकर खत्म कर दिया गया, लेकिन अब प्रियंका के इसका शिकार होने से साफ हो गया है कि सिर्फ कहने को ये घृणित प्रथा बंद हुई है।

प्रियंका ने किया खुलासा
प्रियंका चोपड़ा ने एक इंटरनेशनल मैगजीन को इंटरव्यू में बताया कि हॉलीवुड में उन्हें रंगभेद और नस्लभेद का सामना करना पड़ा। प्रियंका ने बताया कि रंग के आधार पर भेदभाव की वजह से उनके हाथ से हॉलीवुड की एक फिल्म निकल गई।

प्रियंका चोपड़ा से कब हुआ रंगभेद ?
प्रियंका चोपड़ा ने अपने इंटरव्यू में कहा कि ये मामला 2017 का है। वो एक फिल्म की शूटिंग के लिए अमेरिका आईं थीं। तब हॉलीवुड के एक स्टूडियो के मैनेजर से फिल्म को लेकर प्रियंका चोपड़ा की बातचीत हुई। बातचीत के बाद स्टूडियो के मैनेजर ने प्रियंका के मैनेजर से कहा कि वो इसके लिए ठीक नहीं लग रही हैं। इसकी वजह ‘फिजिकैलिटी’ बताया गया।

क्या होता है फिजिकैलिटी का मतलब ?
प्रियंका ने बताया कि जब उन्होंने अपने मैनेजर से फिजिकैलिटी का मतलब पूछा, तो पता चला कि स्टूडियो का मैनेजर उनकी स्किन का कलर यानी रंग को लेकर बात कर रहा था। प्रियंका चोपड़ा के मुताबिक हॉलीवुड में फिल्म बनाने वाले नहीं चाहते थे कि उनकी फिल्म में कोई ब्राउन स्किन टोन का हो। बता दें कि प्रियंका ने हॉलीवुड की फिल्म ‘ए किड लाइक जैक’ में एक्टिंग की है। जिसमें जिम पार्सन्स और ऑक्टैविया स्पेंसर हैं।

प्रियंका ने पुरुषों के बराबर न होने का मुद्दा भी उठाया
अपने इंटरव्यू में प्रियंका चोपड़ा ने पुरुष और महिला कलाकारों को एक जैसा पैसा न मिलने का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि दुनिया को अभी बदलना है। इसके साथ ही सोच, समझ और व्यवहार के स्तर पर विकसित भी होना है। प्रियंका के मुताबिक ऐसा तभी होगा, जब लिंग संबंधी दकियानूसी सोच को तोड़ा जाएगा। प्रियंका चोपड़ा पहली भारतीय एक्टर नहीं हैं जो रंगभेद का शिकार हुईं हैं। कुछ साल पहले एक्टर शिल्पा शेट्टी भी इंटरनेशनल टीवी शो ‘बिग ब्रदर’ का हिस्सा बनी थीं। वहां शिल्पा के साथ रंगभेद और नस्लभेद हुआ था।

Related Post

ये है दुनिया की सबसे महंगी पेंटिंग, सुरक्षा ऐसी कि परिंदा भी नहीं मार सकता पर

Posted by - August 6, 2018 0
पेरिस। फ्रांस की राजधानी पेरिस में लुव्रे म्यूजियम है। यहां तमाम तरह की कलाकृतियां रखी हैं, लेकिन इनमें शामिल एक…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *