नेपाल का एक ऐसा गांव, जहां ज्यादातर लोगों ने बेच दी है अपनी एक किडनी

75 0
  • मानव अंग तस्‍करों के निशाने पर है नेपाल का होकसे गांव, ‘किडनी विलेज’ के नाम से हुआ मशहूर
  • गरीबी और कम पढ़े-लिखे होने का फायदा उठाकर यहां के भोले ग्रामीणों को अपने जाल में फंसाया

काठमांडू। कहते हैं कि मजबूरी इंसान से क्‍या नहीं कराती। कुछ ऐसा ही हुआ है भारत के पड़ोसी मुल्‍क नेपाल में। नेपाल का एक गांव होकसे पिछले कुछ सालों से मानव अंग तस्करों के निशाने पर है। दावा किया जा रहा है कि इस गांव के लगभग ज्यादातर लोग अपनी एक किडनी बेच चुके हैं। इस गांव की खौफनाक तस्वीरें इन दिनों सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रही हैं। इसके बाद सरकार ने सख्ती की और कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है।

क्‍यों बेचने को विवश हुए किडनी

दरअसल नेपाल के होकसे गांव के लोगों को ऐसा मजबूरी के कारण करना पड़ा। नेपाल में भूकंप आने के बाद कई लोगों के घर ढह गए थे। नया घर बनाने और पुराने घर की मरम्मत आदि के लिए उन्हें पैसों की जरूरत थी। सरकार की ओर से कोई मदद न मिलने पर अंग तस्‍करों ने उन्हें एक किडनी के बदले एक लाख रुपये देने का लालच दिया। इसके बाद उनका ऑपरेशन कर किडनी निकाल ली गई। आज हालत यह है कि इस गांव के ज्यादातर लोग अपनी किडनी बेच चुके हैं।

ग्रामीणों को झांसा भी दिया

नेपाल का होकसे गांव अब ‘किडनी विलेज’ के नाम से भी मशहूर हो गया है। बताया जा रहा है कि मानव अंग तस्करों ने यहां के भोलेभाले लोगों को अपने जाल में फंसाकर उनकी किडनी निकाल ली। इसके बदले उन्हें पैसे के साथ ही यह झांसा भी दिया गया कि किडनी निकाल लेने के बाद उनके शरीर में दोबारा नई किडनी आ जाएगी। बता दें कि यह इलाका बहुत पिछड़ा है और यहां शिक्षा का प्रचार-प्रसार बहुत कम है। मानव अंग तस्करों ने लोगों की इसी मजबूरी का फायदा उठाया।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *