दुबई कोर्ट ने धोखाधड़ी में 2 भारतीयों को सुनाई 500 साल की सजा

62 0

यूएई। दुबई कोर्ट ने 2 भारतीयों को धोखाधड़ी के मामले में करार देते हुए 500 साल की सजा सुनाई है। गोवा के रहने वाले सिडनी लिमोस (37) और उनके अकाउंट स्पेशलिस्ट रियान डिसूजा (25) को 200 मिलियन डॉलर (लगभग 1320 करोड़ रुपए) के घोटाले में हजारों निवेशकों को धोखा देने के मामले में यह सजा सुनाई गई है।

निवेशकों को दिया था प्रलोभन
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, लिमोस ने अपनी कंपनी के माध्‍यम से लोगों को प्रलोभन दिया कि वह 25 हजार डॉलर के निवेश पर उन्हें 120 प्रतिशत का न्यूनतम सालाना रिटर्न देगा। कंपनी ने शुरुआत में तो निवेशकों को पैसे दिए, लेकिन मार्च 2016 के बाद से लोगों को रिटर्न मिलना बंद हो गया। इसके बाद दुबई के आर्थिक विभाग ने कंपनी का दफ्तर सील कर दिया।

लिमोस की पत्‍नी पर भी केस

रिपोर्ट के अनुसार, लिमोस की पत्नी वैलनी कार्डोजो पर भी केस दर्ज किया गया है। उसके ऊपर आरोप है कि कंपनी का दफ्तर सील होने के बाद वह गैरकानूनी रूप से दफ्तर में गई और वहां से दस्तावेज उठा लाई। गिरफ्तारी के डर से वह जनवरी 2017 में दुबई से गोवा भाग आई।

पहले भी हुई गिरफ्तारी
गोवा के लिमोस को सबसे पहले दिसंबर 2016 में गिरफ्तार किया गया था, हालां‍कि बाद में उसे जमानत पर रिहा कर दिया गया था। इसके बाद पिछले साल जनवरी में भी लिमोस को गिरफ्तार किया गया था। वहीं सजोलिम के रहने वाले रियान को पिछले साल फरवरी में दुबई एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया था।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *