अल्जीरिया में सेना का विमान दुर्घटनाग्रस्त, 250 से अधिक लोगों की मौत

101 0
  • सैनिकों को लेकर मिलिट्री बेस जा रहा था विमान, दुर्घटना के कारणों का अभी पता नहीं

अल्‍जीयर्स। अल्जीरियाई सेना का एक विमान बुधवार (11 अप्रैल) को देश की राजधानी अल्जीयर्स के निकट दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस भीषण हादसे में 250 से अधिक लोग मारे गए हैं। विमान में सैनिक हथियारों के साथ सवार थे। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि दुर्घटना के कारणों का अब तक पता नहीं चल सका है और इसकी जांच शुरू कर दी गई है।

उड़ान भरते ही हुआ हादसा 

अल्‍जीरिया के सरकारी टेलीविजन के अनुसार, इस हादसे में कुल 257 लोगों की मौत हुई है। स्थानीय समयानुसार सुबह 8 बजे सैनिकों को लेकर इल्यूशिन 176 ट्रूप विमान ने बौफरिक सैन्य हवाईअड्डे से उड़ान भरी थी। वह देश के दक्षिण-पश्चिम स्थित बेकर के सैन्य अड्डे की ओर जा रहा था, लेकिन उड़ान भरने के तुरंत बाद ही दुर्घटनाग्रस्त हो गया। टेलीविजन फुटेज में हवाईअड्डे के रनवे के समीप काले धुएं का गुबार उठता दिखा। यह विमान सोवियत रूस में बना था।

दुर्घटना के बाद विमान पूरी तरह मलबे में तब्दील हो गया

राहत और बचाव दल पहुंचा

हादसे के बाद बौफरिक अड्डे के पास आपात सुविधा और सेवाएं पहुंचाई गईं और राहत कार्य शुरू कर दिया गया। स्थानीय प्रशासन ने कम से कम 130 सदस्यों को राहत एवं बचाव कार्य के लिए तैनात किया है। मौके पर राहत के लिए 40 एंबुलेंस और 40 फायर इंजन तैनात हैं। मौके पर 14 एंबुलेंस भी भेजे गए हैं। घायलों को दुर्घटनास्थल से निकाल कर अस्‍पताल पहुंचाया जा रहा है।

मृतकों में पोलीसारियो फ़्रंट के लोग भी

अधिकारियों का कहना है कि इस विमान हादसे में मरने वाले लोगों में पोलीसारियो फ़्रंट के भी कई लोग शामिल हैं। पोलीसारियो फ़्रंट वो विद्रोही संगठन है जो मोरक्को से आज़ादी की लड़ाई लड़ रहा है और अल्जीरिया उन्हें समर्थन देता है।

Related Post

हैदराबाद की मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में आज आ सकता है फैसला

Posted by - April 16, 2018 0
हैदराबाद। नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी यानी एनआईए की विशेष अदालत आज (16 अप्रैल) मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में फैसला सुना सकती…

एनडीए से भी चंद्रबाबू ने तोड़ा नाता, मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन

Posted by - March 16, 2018 0
नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार से अपने मंत्रियों को हटाने के एक हफ्ते बाद टीडीपी के नेता चंद्रबाबू नायडू…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *