उन्नाव गैंगरेप : पीड़िता के पिता की बेरहमी से हुई थी पिटाई, फट गई थी आंत

55 0
  • पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा, शरीर पर 14 जगह गंभीर चोट के निशान भी पाए गए
  • पीड़ित परिवार ने की सीबीआई जांच की मांग, बोले – आरोपी विधायक की भी हो गिरफ्तारी
  • एडीजी कानून व्यवस्था बोले – एसआईटी करेगी इस घटना से जुड़े सभी पहलुओं की जांच

उन्‍नाव। उन्नाव गैंगरेप मामले में रेप पीड़िता के पिता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि उनकी बेरहमी से पिटाई की गई थी। डॉक्टरों के अनुसार, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में साबित हुआ है कि मारपीट में उनकी बड़ी आंत फट गई थी। यही नहीं, शरीर पर 14 जगह गंभीर चोट के निशान भी पाए गए हैं।

चोटों की वजह से हो गया था सेप्टिसीमिया

पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट में शरीर पर चोट 6-7 दिन पुराने होने की भी पुष्टि हुई है। पिटाई के बाद पीड़िता का पिता शॉक में चला गया था और सेप्टिसीमिया होने से उसके पूरे शरीर में जहर फैल गया था। पोस्टमॉर्टम होने के बाद मंगलवार की सुबह पुलिस ने कड़ी सुरक्षा के बीच शुक्लागंज घाट पर पीड़िता के पिता के शव का अंतिम संस्कार करा दिया।

परिवारीजनों ने की सीबीआई जांच की मांग

पीड़ित परिवार ने पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। पीड़िता का कहना है कि उसे नहीं पता कि अतुल सिंह को गिरफ्तार किया गया है या नहीं, लेकिन अभी तक विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पुलिस ने नहीं पकड़ा है। पीडि़ता ने मांग की है कि विधायक को भी जल्द गिरफ्तार किया जाए। गैंगरेप की पीड़िता ने कहा है, ‘मेरी जिंदगी बर्बाद करने वालों को फांसी की सजा होनी चाहिए।’

उन्नाव गैंगरेप केस में और घिरे BJP MLA सेंगर, पुलिस ने भाई को किया गिरफ्तार

सबूत मिलने के बाद हुई विधायक के भाई की गिरफ्तारी

इससे पहले यूपी के डीजीपी ने बयान जारी कर कहा कि बीजेपी के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई अतुल सिंह सेंगर को गिरफ्तार कर लिया गया है। लखनऊ की क्राइम ब्रांच की टीम को उनके खिलाफ कुछ सबूत मिले हैं, जिसके आधार पर अतुल को गिरफ्तार किया गया है। डीजीपी ने कहा है कि अतुल सिंह के खिलाफ अब वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

एसआईटी करेगी मामले की जांच

भाजपा विधायक द्वारा कथित रूप से युवती से बलात्कार पीडि़त युवती के पिता की जेल में मौत के प्रकरण की जांच के लिए विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया गया है। अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) आनंद कुमार ने मंगलवार को कहा, ‘एसआईटी इस घटना से जुड़े सभी पहलुओं की जांच करेगी।’ एडीजी ने यह भी कहा कि इस प्रकरण में अभी तक किसी को क्लीन चिट नहीं दी गई है।

Related Post

सोनिया को उम्मीद, ‘इंडिया शाइनिंग’ की तरह ‘अच्छे दिन’ का नारा बीजेपी को डुबोएगा

Posted by - March 10, 2018 0
नई दिल्ली। कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी को ये उम्मीद है कि 2019 में बीजेपी को ‘अच्छे दिन’ का नारा उसी…

जानिए, आखिर क्यों अंबेडकर के नाम के साथ जुड़ेगा ‘राम’ का नाम ?

Posted by - March 29, 2018 0
लखनऊ। यूपी में अब डॉ. भीमराव अंबेडकर के नाम के साथ ‘रामजी’ नाम जोड़कर लिखा जाएगा। अंग्रेजी में तो अंबेडकर का नाम…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *