लैंगिक भेदभाव मिटाने को ब्रिटेन के इस स्कूल में अब लड़के भी स्कर्ट में दिखेंगे

69 0

लंदन। telegraph.uk नाम की वेबसाइट के मुताबिक ब्रिटेन के नामी अपिंघम स्कूल में लड़के भी अब स्कर्ट में दिखेंगे। लैंगिक भेदभाव खत्म करने के लिए स्कूल प्रबंधन ने ये फैसला किया है।

नामी बोर्डिंग स्कूल है अपिंघम
बता दें कि रटलैंड का अपिंघम स्कूल काफी नामचीन है। यहां के हेड टीचर रिचर्ड मैलनी के मुताबिक उन्हें उम्मीद है कि छात्र खुद आकर कहेंगे कि वो स्कर्ट पहनना चाहते हैं। मैलनी ने कहा कि स्कूल ऐसे छात्रों को तुरंत स्कर्ट पहनने की मंजूरी देगा।

कितनी है अपिंघम स्कूल की फीस ?
रटलैंड के अपिंघम स्कूल की फीस सुनकर आप चौंक जाएंगे। यहां की सालाना फीस 36 हजार ब्रिटिश पाउंड है। जो भारतीय रुपए में लगभग 33 लाख रुपए सालाना होती है।

कब से छात्राएं पढ़ती हैं ?
अपिंघम स्कूल बोर्डिंग है। यहां साल 1973 में पहली बार छात्राओं को एडमिशन देना शुरू किया गया था। अब ये को-एजुकेशन स्कूल है। इससे पहले स्कूल ने लैंगिक भेदभाव खत्म करने के लिए गर्ल्स एंड ब्वॉयज की जगह प्यूपिल शब्द का इस्तेमाल शुरू किया था।

एक्टर ने किया फैसले का स्वागत
ब्रिटेन के नामी एक्टर और अपिंघम स्कूल में पढ़ चुके क्रिश्चियन जेसन ने स्कूल प्रबंधन के फैसले का स्वागत किया है। क्रिश्चियन जेसन ने कहा कि अगर स्कूल में उन्हें स्कर्ट पहनने की मंजूरी मिलती, तो वो उसे ही पहनते। जेसन के मुताबिक जेंडर न्यूट्रल यूनिफॉर्म यानी लड़कों और लड़कियों की एक जैसी यूनिफॉर्म से लैंगिक भेदभाव खत्म होगा।

Related Post

केदारनाथ के बाद अब खुले बदरीनाथ के कपाट, हजारों भक्तों ने लगाया जयकारा

Posted by - April 30, 2018 0
जोशीमठ। केदारनाथ के कपाट खुलने के एक दिन बाद सोमवार को बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर भगवान बदरीनाथ मंदिर के…

कुछ ऐसी चीज लेकर ट्रेन में चढ़ गया एक शख्स, देखते ही यात्रियों के छूट गए पसीने

Posted by - August 24, 2018 0
ऑस्ट्रिया। ऑस्ट्रिया में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे जानकर हर कोई हैरान रह गया। आपने ट्रेन में यात्रियों…

CWG : मैरी कॉम के मुक्कों से प्रतिद्वंद्वी ढेर, भारत को मिला एक और सोना

Posted by - April 14, 2018 0
गोल्ड कोस्ट (ऑस्ट्रेलिया)। यहां चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय महिला मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम ने देश को एक और…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *