बीजेपी विधायक पर रेप का आरोप, सीएम आवास के बाहर आत्मदाह की कोशिश

87 0
  • पुलिसकर्मियों ने बचाया, विधायक और उसके भाई पर जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप
  • उन्‍नाव से विधायक हैं कुलदीप सेंगर, शिकायत के बाद पीडि़ता पर केस वापस लेने का डाल रहे थे दबाव

लखनऊ। उन्नाव से बीजेपी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर एक महिला ने रेप का आरोप लगाने के बाद रविवार (8 अप्रैल) को लखनऊ में मुख्‍यमंत्री आवास के बाहर परिवार सहित आत्मदाह करने की कोशिश की। पुलिस ने किसी तरह युवती को आत्मदाह करने से रोका।

जून 2017 का मामला 
उन्‍नाव जिले की रहने वाली एक युवती ने आरोप लगाया है कि विधायक कुलदीप सेंगर ने अपने गुर्गों के साथ जून, 2017 में उसके साथ गैंगरेप किया। युवती के मुताबिक, उसने पुलिस से विधायक के खिलाफ शिकायत भी की, लेकिन पुलिस ने आजतक कोई कार्रवाई नहीं की।

शिकायत करने के बाद मिल रही थीं धमकियां

पीडि़त युवती का आरोप है कि शिकायत करने के बाद उसे और उसके परिवार को धमकियां मिलने लगीं। पीड़िता को कोर्ट से मुकदमा वापस लेने के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा। इसी बीच 3 अप्रैल को हथियारों से लैस विधायक का भाई अपने गुर्गों के साथ पीड़िता के घर आ धमका और परिवार के लोगों की खूब पिटाई की।

मुख्‍यमंत्री आवास पर आई थी धरना देने

युवती ने बताया कि रेप की घटना के बाद वह अपने पिता के पास दिल्ली चली गई थी, लेकिन इसी महीने जब वह पिता के साथ वापस घर आई तो विधायक के गुर्गों ने उसके पिता के साथ मारपीट की। आखिरकार विधायक की गुंडई से तंग आकर पूरा परिवार रविवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास के बाहर धरने पर बैठ गया। यहीं पर युवती ने आत्मदाह की कोशिश की। पुलिस ने किसी तरह युवती को काबू में किया और पूरे परिवार को गौतम पल्ली थाने ले गई।

पुलिस जब युवती और परिवारवालों को थाने ले गई तो वहां भी युवती ने किया आत्मदाह का प्रयास

थाने में भी किया आत्‍मदाह का प्रयास

बताया जा रहा है कि पुलिस जब युवती और उसके परिवार वालों को लेकर गौतम पल्‍ली थाने पहुंची तो वहां युवती ने दोबारा आत्‍मदाह का प्रयास किया। हालांकि पुलिसकर्मियों ने उसे फिर से बचा लिया। युवती ने कुलदीप सिंह सेंगर और उसके भाई पर जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप लगाया है।

विधायक बोले – सारे आरोप निराधार

इस मामले में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने कहा कि उनके ऊपर लगाए गए सारे आरोप निराधार हैं। उन्होंने कहा, ‘ये सब कुछ प्री-प्लान था। इनके घर में एक घटना हुई थी लेकिन इन लोगों ने कुछ निर्दोषों को फंसाया था। हालांकि, पुलिस ने उसे बचा लिया। जिस महिला ने मुझ पर आरोप लगाया है, उसका और उसके परिवार का सोचना है कि मैंने ही निर्दोषों को बचाने में मदद की इसलिए ये लोग मुझे बदनाम करने के लिए ऐसे आरोप लगा रहे हैं। मैं चाहता हूं कि इस मामले में गहनता से छानबीन कर जो भी दोषी हो, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

पुलिस पर मामले में लीपापोती का आरोप

युवती ने पुलिस पर भी इस मामले में लीपापोती करने का आरोप लगाया है। उसका आरोप है कि पुलिस ने उसकी शिकायत में से विधायक का नाम हटा दिया। युवती अपनी शिकायत लेकर सीमए योगी आदित्यनाथ के पास भी गई थी, लेकिन वहां भी उसे कोई मदद नहीं मिली। फिलहाल पुलिस ने युवती सहित पूरे परिवार को थाने में रखा हुआ है और मामले की जांच कर रही है।

क्या कहना है पुलिस का ?
एडीजी राजीव कृष्ण ने बताया कि एक महिला ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाया है और कहा कि मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई और दूसरे पक्ष ने उनके साथ मारपीट की। शुरुआती जांच में पता चला है कि महिला के परिवार और दूसरे पक्ष का पिछले करीब 10-12 साल से विवाद चल रहा है। उन्होंने बताया कि केस लखनऊ ट्रांसफर करा दिया गया है। पुलिस मामले की जांच करेगी, उसके बाद ही सच्चाई सामने आ पाएगी।

Related Post

कर्नाटक लोकायुक्त को ऑफिस में घुसकर चाकू से गोदा, हमलावर गिरफ्तार

Posted by - March 7, 2018 0
लोकायुक्‍त विश्‍वनाथ शेट्टी अस्‍पताल में भर्ती, शिकायतकर्ता तेजस शर्मा ने किया हमला बेंगलुरु। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में एक व्यक्ति…

टीवी शो के जरिए समझाया जा सकता है सुरक्षित सेक्स, अभियान से नहीं होता कोई फायदा

Posted by - September 27, 2018 0
नई दिल्ली। सुरक्षित सेक्स को समझाने के लिए किसी भी जागरूक अभियान से ज्यादा टीवी शो फायदेमंद है। बिहेवियर में…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *