मंत्री बनते ही कम्प्यूटर बाबा के बदले सुर, शिवराज पर लगाया था घोटाले का आरोप

53 0

भोपाल। मध्यप्रदेश सरकार ने जिन पांच संतों को राज्य मंत्री का दर्जा दिया है, उनमें कम्प्यूटर बाबा भी शामिल हैं। बता दें कि कम्प्यूटर बाबा ने शइरवाज सरकार की ओर से नर्मदा नदी के किनारे 6 करोड़ से ज्यादा पौधे लगाए जाने को घोटाला करार दिया था। बाबा ने इसके खिलाफ यात्रा निकालने का एलान भी किया था, लेकिन राज्य मंत्री बनाए जाते ही कम्प्यूटर बाबा के सुर बदल गए हैं।

क्या लगाया था आरोप ?

शिवराज सरकार ने 2017 की 2 जुलाई को नर्मदा नदी के किनारे 6 करोड़ 67 लाख पौधे लगाने का दावा किया था। कम्प्यूटर बाबा ने तब इसे घोटाला बताकर 1 अप्रैल से नर्मदा घोटाला रथ यात्रा निकालने का एलान किया था। कम्प्यूटर बाबा के नेतृत्व में संतों ने कहा थआ कि 45 जिलों में वो साढ़े 6 करोड़ पौधों की गिनती कराएंगे।

कम्प्यूटर बाबा के ऐसे बदले सुर
राज्य मंत्री का दर्जा मिलते ही कम्प्यूटर बाबा के सुर बदल गए हैं। वो कह रहे हैं कि घोटाले की कोई बात नहीं है। बाबा का कहना है कि पांचों संत अब नर्मदा के किनारे बसे शहरों और गांवों में जाएंगे और जन जागरण करेंगे।

बतौर मंत्री संतों को ये मिलेगी सुविधा
राज्य मंत्री के बतौर कम्प्यूटर बाबा और चार अन्य संतों को हर महीने 7500 रुपए तनख्वाह मिलेगी। इसके अलावा गाड़ी और हर महीने 100 किलोमीटर जाने के लिए डीजल मिलेगा। मकान किराए के तौर पर हर महीने 15 हजार रुपए भी मिलेंगे। स्टाफ और पीए रख सकेंगे। साथ ही मिलने आने वालों को चाय वगैरा पिलाने के एवज में हर महीने 3 हजार रुपए का सत्कार भत्ता भी मिलेगा।

Related Post

फेक न्यूज पर पीएम मोदी ने पलटा सूचना प्रसारण मंत्रालय का फैसला

Posted by - April 3, 2018 0
प्रधानमंत्री बोले – फेक न्यूज के मामले में प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया या एनबीए ही लेगा कोई फैसला नई दिल्ली। फेक…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *