AIIMS ने ओपीडी के नियमों में किया बड़ा बदलाव, हजारों मरीजों को होगा फायदा

112 0
  • अब 75 की जगह 50 फीसदी अपॉइंटमेंट ही ऑनलाइन होंगे, बाकी 50 प्रतिशत अस्‍पताल पहुंचे मरीजों के लिए

नई दिल्ली। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ने अपने ओपीडी के नियमों में कुछ अहम बदलाव किए हैं। इसके तहत अब एम्स में ओपीडी में 50 प्रतिशत कोटा ऑनलाइन मरीजों के लिए रहेगा और बाकी 50 प्रतिशत कोटा अस्पताल पहुंचे मरीजों के लिए होगा जो तुरंत रजिस्ट्रेशन कराते हैं। बता दें कि एम्स में इलाज की तारीख न मिलने से कई मरीजों को बैरंग लौटना पड़ता था। ऐसे में ये नया नियम मरीजों के लिए काफी फायदेमंद सिद्ध होगा।

बिना इलाज कराए लौट जाते थे मरीज !

नए नियमों के अनुसार, अब ओपीडी के लिए सिर्फ 50 प्रतिशत अपॉइंटमेंट ही ऑनलाइन होंगे, बाकी 50 प्रतिशत अपाइंटमेंट अस्‍पताल पहुंचने वालों के लिए होंगे। अभी तक ओपीडी के 75 प्रतिशत अपॉइंटमेंट ऑनलाइन होते थे। ऐसे में दूर-दराज से आए मरीजों को अपॉइंटमेंट नहीं मिल पाता था और उन्‍हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था।

लंबी हो गई थी वेटिंग लिस्‍ट

अभी तक 75 प्रतिशत ऑनलाइन अपॉइंटमेंट के कारण वेटिंग इतनी ज्यादा बढ़ गई थी कि स्किन, यूरोलॉजी, नेफ्रोलॉजी और मेडिसिन जैसे डिपार्टमेंट में अगले साल फरवरी,  2019 तक की डेट मिल रही थी। इस लंबी वेटिंग लिस्‍ट के कारण ही एम्‍स प्रशासन ने ओपीडी के ऑनलाइन अपॉइंटमेंट को 50 प्रतिशत करने का फैसला लिया। बदले हुए नियम 2 अप्रैल से लागू कर दिए गए हैं। इसे दो फेज में लागू करने का निर्णय हुआ है। 2 अप्रैल से शुरू हुआ फेज 15 मई तक चलेगा और इसके बाद इसका रिव्यू किया जाएगा।

बदलाव का दिखने लगा असर

नए नियमों के अनुसार 2 अप्रैल से शुरू हुए पहले के बाद बदलाव का असर भी दिखने लगा है। अब ओपीडी में मरीजों को ज्‍यादा लंबी तारीख नहीं मिल रही है। पहले मरीजों को यहां वर्ष 2019 की तारीख मिल रही थी, लेकिन नए नियम के बाद उसी दिन या अगले दिन ही अपॉइंटमेंट मिल रहा है। कुछ विभागों में वेटिंग ज्यादा से ज्यादा मई तक पहुंची है।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *