मोसुल में मारे गए भारतीयों के परिजनों को मिलेगा 10 लाख रुपये का मुआवजा

118 0

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार ने इराक के मोसुल में मारे गए 38 लोगों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये का मुआवजा देने का फैसला किया है। बिहार में दो परिवारों ने मुआवजे की मांग करते हुए शव लेने से इनकार कर दिया था।

वीके सिंह ने मुआवजे पर कही थी ये बात
बता दें कि मोसुल से भारतीयों के शव लेकर लौटे विदेश राज्य मंत्री रिटायर्ड जनरल वीके सिंह ने मुआवजा देने पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि ये मामला बिस्कुट बांटने जैसा नहीं है। वीके सिंह ने ये भी कहा था कि सभी भारतीय अवैध तरीके से इराक गए थे, जिसकी वजह से सरकार उन्हें बचा नहीं सकी।

दो परिवारों ने नहीं लिए थे शव
बिहार के दो परिवारों ने मृतकों के शव लेने से ये कहते हुए इनकार कर दिया था कि जब तक सरकार मुआवजा नहीं देगी, वो शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। इन परिवारों ने दलील दी थी कि उनके परिवार की रोजी-रोटी का सहारा छिन गया है।

कितने भारतीयों की हुई हत्या ?
मोसुल में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने 39 भारतीयों की हत्या कर दी थी। इनमें से 38 की पहचान कर उनके शव जनरल वीके सिंह सोमवार को मोसुल से वापस लाए थे। इनमें से 5 शव बिहार और बाकी पंजाब और हिमाचल के हैं। एक अन्य शव की पहचान 70 फीसदी ही हो सकी है। ऐसे में वो शव वापस नहीं लाया गया है।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *