सचिन तेंदुलकर ने अपने अंदाज में किया आलोचकों का मुंह बंद

128 0
  • प्रधानमंत्री राहत कोष में दान दिया राज्‍यसभा सदस्‍य के रूप में मिला अपना पूरा वेतन
  • प्रधानमंत्री कार्यालय ने उनकी इस सहृदयता के लिए पत्र लिखकर जताया आभार

नई दिल्ली। राज्‍यसभा सांसद रहे क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर की सदन में कम उपस्थिति पर भले ही समय-समय पर सवाल उठते रहे हों, लेकिन राज्‍यसभा से रिटायर होते समय उन्‍होंने ऐसा काम किया, जिसकी जितनी भी तारीफ की जाए कम है। सचिन ने राज्यसभा सांसद के रूप में मिला अपना पूरा वेतन और भत्ते प्रधानमंत्री राहत कोष में दान कर दिए।

पीएमओ ने जताया आभार

सचिन तेंदुलकर के इस कदम की प्रधानमंत्री कार्यालय ने प्रशंसा करते हुए उन्‍हें आभार पत्र जारी किया है। पीएमओ की ओर से जारी पत्र में लिखा गया है, ‘प्रधानमंत्री ने इस सहृदयता के लिए आपका आभार व्यक्त किया है। यह योगदान संकटग्रस्त लोगों को सहायता पहुंचाने में बहुत मददगार होगा।’ बता दें कि पिछले छह वर्षों में सचिन तेंदुलकर को वेतन के रूप में लगभग 90 लाख रुपये और अन्य मासिक भत्ते मिले थे।

सांसद निधि का किया बढि़या इस्‍तेमाल

संसद में कम आने के लिए भले ही सचिन तेंदुलकर की आलोचना की गई हो, लेकिन मास्‍टर ब्‍लास्‍टर ने अपनी सांसद निधि का अच्छा उपयोग किया था। उनके कार्यालय से जारी आंकड़ों में, देश भर में 185 परियोजनाओं को मंजूरी देने तथा उन्हें आवंटित 30 करोड़ रुपए में से 7.4 करोड़ रुपये शिक्षा और ढांचागत विकास में खर्च करने का दावा किया गया है। सांसद आदर्श ग्राम योजना कार्यक्रम के तहत तेंदुलकर ने भी दो गांव गोद लिये थे। इनमें से एक आंध्र प्रदेश का पुत्तम राजू केंद्रिगा और दूसरा महाराष्ट्र का दोंजा गांव है।

कश्मीर में स्कूल को दिए 40 लाख रुपये

सचिन तेंदुलकर ने सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास (एमपीलैड) कोष से जम्मू कश्मीर के बांदीपोरा जिले के एक स्कूल की इमारत बनाने के लिए 40 लाख रुपए दिए हैं। बांदीपोरा के दुर्गमुल्ला का इकलौता स्कूल इंपीरियल एजुकेशनल इंस्टीट्यूट 2007 में बना था। इसमें कक्षा एक से 10 तक लगभग 1000 छात्र पढ़ते हैं। राज्यसभा सदस्य तेंदुलकर द्वारा दिए गए धन से यहां 10 कक्षाओं, चार प्रयोगशाला, प्रशासनिक ब्लॉक, छह प्रसाधन और एक प्रार्थना हाल का निर्माण कराया जाएगा। सचिन के इस कदम की जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी तारीफ की थी।

शैक्षिक संस्‍थानों के प्रोजेक्‍ट को दिए 7.4 करोड़ रुपये

एमपीलैड कोष से सचिन तेंदुलकर ने देश के विभिन्न हिस्सों में स्कूल और शैक्षिक संस्थानों से जुड़ी 20 परियोजनाओं में 7.4 करोड़ की धनराशि दी है। दक्षिण मुंबई के स्‍कूल निर्माण में भी उन्‍होंने मदद की। इसके अलावा सचिन ने निजी तौर पर भी कई एनजीओ की भी लगातार मदद की है।

Related Post

अमेरिका में उतरवाए पाक के पीएम के कपड़े, जमकर हो रहा है विरोध

Posted by - March 28, 2018 0
इस्लामाबाद। अमेरिका में पाकिस्तानी पीएम शाहिद खाकान अब्बासी के कपड़े उतरवा लिए गए। बताया जा रहा है कि ये शर्मनाक…

‘पद्मावती’ विवाद:सिर काटने पर 10 करोड़ इनाम, ट्विंकल ने पूछा-इस पर जीएसटी लगेगा?

Posted by - November 21, 2017 0
नई दिल्ली: संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर चल रहा विवाद खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा…

Wef Report : वर्ष 2018 में दुनिया की 58वीं सबसे प्रतिस्पर्धी अर्थव्यवस्था बना भारत

Posted by - October 18, 2018 0
नई दिल्ली। विश्व आर्थिक मंच (WEF) ने प्रतिस्पर्धी अर्थव्यवस्थाओं की अपनी वर्ष 2018 की ताजा सूची में भारत को 58वां स्थान…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *