पवन ऊर्जा के मुकाबले सौर ऊर्जा पर दुनिया का बढ़ा भरोसा

89 0

एक दौर में हवा से बिजली उत्पादन पर जोर था, लेकिन बीते कुछ साल के आंकड़े बताते हैं कि गैर पारंपरिक ऊर्जा हासिल करने में अब सूरज पर दुनिया का भरोसा बढ़ता जा रहा है। चीन में तो साल 2015 से ही हवा से बिजली बनाने पर कम जोर है। साल 2015 में चीन में पवन चक्कियों से 64 गीगावाट बिजली बनी। जबकि 2016 में 50 गीगावाट और 2017 में 15 गीगावाट बिजली बनाई गई। बात करें भारत की, तो यहां हवा से 33 गीगावाट बिजली बनाई जा रही है।

सौर ऊर्जा लेने पर जोर
आंकड़ों को देखें, तो बीते साल सौर ऊर्जा में 73 गीगावाट की और बढ़ोतरी हुई है। गैर पारंपरिक ऊर्जा हासिल करने में चीन और अमेरिका सबसे आगे हैं। वहीं, भारत में भी इस पर जोर है। यूपी में तो देश का सबसे बड़ा सौर ऊर्जा प्लांट हाल ही में बिजली उत्पादन करने लगा है।

     

Related Post

मोदी सरकार ने खर्च दिए 3800 करोड़ रुपए, लेकिन पता नहीं गंगा कितनी साफ हुई

Posted by - October 23, 2018 0
नई दिल्ली। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक गंगा को स्वच्छ बनाने का काम कितना हुआ है, ये केंद्र की…

कर्नाटक: येदियुरप्पा सरकार बचने के लिए 7 वोट जरूरी, 20 लिंगायत MLA पर नजर

Posted by - May 19, 2018 0
बेंगलुरु। आज शाम 4 बजे कर्नाटक में बीएस येदियुरप्पा को विश्वास मत हासिल करना है। बीजेपी सरकार को विश्वास मत…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *