बढ़ रही है नेपाली लड़कियों की तस्करी, भारत के वेश्यालयों में धड़ल्ले से बेची जा रहीं

87 0

नई दिल्ली। भारत के वेश्यालयों में नेपाली लड़कियों की तादाद लगातार बढ़ रही है। साल 2013 से देखें तो तस्करी कर भारत लाई जा रही नेपाली लड़कियों की तादाद में 500 फीसदी तक बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

किसने जारी किए आंकड़े ?
भारत-नेपाल सीमा पर चौकसी बरतने का जिम्मा संभालने वाले सशस्त्र सीमा बल यानी एसएसबी की ओर से जारी किए गए आंकड़े नेपाल से लड़कियों की तस्करी का भयावह रूप दिखाते हैं।

कहां-कहां से हो रही है तस्करी ?
एसएसबी के मुताबिक, नेपाल के गांवों और तराई इलाकों से ज्यादातर लड़कियों को तस्करी कर लाया जाता है। इन्हें दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और अन्य जगह चल रहे अवैध वेश्यालयों में 50 हजार रुपए तक की कीमत पर बेचा जाता है।

आंकड़े खोल रहे हैं मानव तस्करी की पोल
एसएसबी के आंकड़ों के मुताबिक, नेपाली लड़कियों की तस्करी में साल 2012 के बाद लगातार बढ़ोतरी हुई है। साल 2012 में 8 मामलों में 7 मानव तस्करों को पकड़ा गया और 72 लड़कियां बरामद की गईं। साल 2013 में 14 मामलों में 19 तस्कर पकड़े गए और 108 नेपाली लड़कियों की बरामदगी हुई। 2014 में 8 मामलों में 8 लोग पकड़े गए और 33 लड़कियां बरामद हुईं।

2015 से लगातार बढ़ रहे मामले
2015 में 73 मामले दर्ज हुए। इनमें 102 लोग पकड़े गए और 336 लड़कियों को बरामद किया गया। वहीं, 2016 में 76 मामलों में 148 मानव तस्करों की गिरफ्तारी और 501 लड़कियों की बरामदगी हुई। 2017 में 147 मामले दर्ज हुए, जबकि 154 तस्कर गिरफ्तार हुए और 607 नेपाली लड़कियां बरामद की गईं। बात करें 2018 की, तो फरवरी तक 28 मामले दर्ज किए गए, जिनमें 40 मानव तस्करों की बरामदगी कर 94 नेपाली लड़कियों को बरामद किया गया है।

Related Post

‘गिविंग प्‍लेज’ से जुड़े नीलेकणि दंपति, आधी संपत्ति करेंगे दान

Posted by - November 21, 2017 0
नई दिल्ली: इंफोसिस के नॉन एक्जीक्यूटिव चेयरमैन नंदन नीलेकणि और उनकी पत्नी रोहिणी नीलेकणि अपनी आधी संपत्ति दान करेंगे. दरअसल, नीलेकणि…

25 करोड़ रुपए में डालमिया ग्रुप को मिला दिल्ली का लालकिला, जानिए वजह

Posted by - April 28, 2018 0
नई दिल्ली। अब दिल्ली के लालकिले को मशहूर उद्योगपति डालमिया के ग्रुप को सौंप दिया गया है। लालकिला पहली ऐतिहासिक…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *