सीबीएसई पेपर लीक : 12वीं अर्थशास्त्र की परीक्षा 25 अप्रैल को, गणित पर फैसला नहीं

44 0
  • शिक्षा सचिव बोले – जरूरत हुई तो सिर्फ दिल्‍ली और हरियाणा में होगी 10वीं के गणित की दोबारा परीक्षा  

नई दिल्‍ली। पेपर लीक मामले के सामने आने के बाद रद्द की गई सीबीएसई की 12वीं के अर्थशास्‍त्र विषय की परीक्षा के लिए तारीख की घोषणा कर दी गई है। यह परीक्षा अब 25 अप्रैल को दोबारा कराई जाएगी। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। हालांकि 10वीं गणित की परीक्षा के लिए अभी कोई तिथि निर्धारित नहीं की गई है। इस पर बाद में फैसला किया जाएगा।

10वीं गणित की परीक्षा जुलाई में संभव

शिक्षा सचिव अनिल स्‍वरूप ने शुक्रवार (30 मार्च) को पत्रकारों को बताया कि जहां तक 10वीं के प्रश्‍नपत्र के लीक होने का मामला है, प्रारंभिक जांच में पता चला है कि 10वीं के गणित का पर्चा लीक दिल्ली और हरियाणा तक सीमित था। अगर 10वीं के गणित विषय की परीक्षा दोबारा कराने की जरूरत हुई तो केवल दिल्‍ली और हरियाणा में ही कराई जाएगी। इस पर अगले 15 दिनों में निर्णय ले लिया जाएगा। 10वीं की परीक्षा जुलाई में हो सकती है और इसकी तारीख का ऐलान बाद में किया जाएगा।

एनआरआई छात्रों के लिए दोबारा परीक्षा नहीं

शिक्षा सचिव ने यह भी कहा कि एनआरआई छात्रों के लिए दोबारा परीक्षा नहीं कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि भारत से बाहर कोई पर्चा लीक नहीं हुआ, इसलिए देश के बाहर दोबारा परीक्षाएं नहीं कराई जाएंगी। उन्‍होंने बताया कि भारत से बाहर सीबीएसई परीक्षाओं में शामिल होने वाले छात्रों के लिए प्रश्नपत्र अलग होते हैं।

जांच में गूगल से मांगी गई मदद

सीबीएसई पेपर लीक मामले में छात्रों के भारी विरोध प्रदर्शन के बाद दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच व्हिसलब्लोअर की तलाश में जुटी है। इसके लिए गूगल से भी सहयोग मांगा गया है। दरअसल, इसी व्हिसलब्लोअर ने सीबीएसई चेयरपर्सन को परीक्षा से कई घंटे पहले ही एक वॉर्निंग ईमेल भेजा था। क्राइम ब्रांच ने इस ईमेल के बारे में गूगल से जवाब मांगा है। यह मेल जीमेल आईडी से भेजा गया था और इसमें हाथ से लिखे प्रश्नपत्रों की तस्वीरें भी अटैच थीं।

10 से ज्यादा संदिग्ध वॉट्सऐप ग्रुप की पहचान

वॉट्सऐप पर पेपर शेयर होने की खबरों के बाद दिल्‍ली क्राइम ब्रांच ने 10 से ज्यादा वॉट्सऐप ग्रुप्स की पहचान की है। इन सभी ग्रुप में से प्रत्येक में 50-60 सदस्य थे। क्राइम ब्रांच लगातार जांच और पूछताछ में जुटी है। इस बीच, पेपर लीक को लेकर 5 छात्रों के समूह ने मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर से मुलाकात की। उन्‍होंने सीबीएसई चेयरमैन के इस्तीफे की मांग की और कहा है कि सीबीएसई की गलती की सजा सभी छात्रों को नहीं मिलनी चाहिए।

Related Post

वनटांगिया बस्ती के लोग बोले – सीएम नहीं आए तो नहीं मनाएंगे दिवाली

Posted by - October 4, 2017 0
2007 से ही कुसम्‍ही में वनटांगिया मजदूरों के बीच सांसद के रूप में जाते रहे हैं योगी आदित्‍यनाथ गोरखपुर। कुसम्ही…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *