गुड फ्राइडे : आज ही के दिन भक्तों के लिए सूली पर चढ़े थे प्रभु यीशु

151 0

प्रभु यीशु के बलिदान दिवस को ‘गुड फ्राइडे’ के रूप में मनाया जाता है। यह पावन पर्व इस बार 30 मार्च को है। बता दें कि यह ईसाइयों का प्रमुख त्‍योहार है। ऐसा माना जाता है कि आज के ही दिन प्रभु ईसा मसीह ने अपने भक्तों के लिए बलिदान देकर निःस्वार्थ प्रेम को लोगों के सामने जाहिर किया था। प्रभु ईसा मसीह ने सूली पर चढ़कर प्रेम और क्षमा का संदेश दिया था।

आज का दिन ईसाइयों के लिए प्रेम और क्षमा का दिन होता है। इस खास दिन लोग गिरजाघरों में दोपहर बाद इकट्ठा होते हैं और करीब 3 बजे प्रार्थना करते हैं। गुड फ्राइडे वाले सप्ताह को ईसाई एक पवित्र सप्ताह मानते हैं। इस दिन कोई सेलिब्रेशन नहीं मनाया जाता है। बहुत से लोग इस दौरान दुख भी मनाते हैं। इस पर्व की तैयारी प्रार्थना और उपवास के रूप में 40 दिन पहले से ही शुरू हो जाती है।

‘गुड फ्राइडे’ को ‘होली फ्राइडे’, ‘ब्लैक फ्राइडे’ या ‘ग्रेट फ्राइडे’ भी कहते हैं। मान्यता है कि प्रभु यीशु शुक्रवार से शनिवार तक कब्र में रहने के बाद रविवार को पुनर्जीवित हो गए थे। इस दिन ईसाई धर्मावलंबी प्रभु यीशु के दिए गए उपदेशों और शिक्षाओं को याद करते हैं। इस दिन ईसा मसीह के अंतिम शब्दों की खास व्याख्या की जाती है।

सूली पर लटकाए जाने के दौरान प्रभु यीशु ने अपने अंतिम संदेश में कहा था ‘किसी को क्षमा करना सबसे बड़ी शक्ति होती है।’ अपने प्राणों को त्यागने के पहले उनके आखिरी शब्द थे- ‘हे ईश्वर इन्हें माफ कर दें, क्योंकि ये नहीं जानते कि ये क्या कर रहे हैं।’

Related Post

केंद्रीय कैबिनेट ने दी SC-ST एक्ट में बदलाव को मंजूरी, संसद में आएगा बिल

Posted by - August 1, 2018 0
सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद दलित संगठन थे आक्रोशित, देशभर में हुई थी बड़े पैमाने पर हिंसा नई दिल्ली। केंद्रीय…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *