मिशन 2019 : तीसरे मोर्चे के लिए 10 दलों के नेताओं से मिलीं ममता बनर्जी

96 0
  • शरद पवार, कनिमोझी, सपा, शिवसेना और राजद के नेताओं के साथ ममता ने की बैठक

नई दिल्‍ली। 2019 में होने वाले आम चुनाव में बीजेपी को घेरने के लिए तमाम विरोधी दल एकजुट हो रहे हैं। भाजपा के खिलाफ विपक्षी दलों को एक मंच पर लाने की कोशिश के तहत तृणमूल कांग्रेस प्रमुख तथा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मंगलवार (27 मार्च) को एनसीपी नेता शरद पवार, डीएमके सांसद कनिमोझी, शिवसेना और राजद नेताओं से मिलीं। ममता ने संसद भवन में 10 विपक्षी दलों के नेताओं के साथ बैठक की। इससे पहले कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने भी पवार से मुलाकात की।

2019 में बेहद दिलचस्प होगा मुकाबला

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं कि 2019 का लोकसभा चुनाव बेहद दिलचस्प होगा। ममता ने कहा कि उनकी कोशिश 12 दलों को साथ लाने की है जिनके पास अभी 172 सांसद हैं।

भाजपा विरोधी मोर्चा बने : शरद पवार

एनसीपी के प्रफुल्‍ल पटेल और सुप्रिया सुले की उपस्थिति में पवार और ममता ने करीब 40 मिनट तक बैठक की। ममता ने शरद पवार से अनुरोध किया कि वे विपक्षी मोर्चा की अगुवाई करें। पवार ने ममता को सलाह दी कि अलग-अलग मोर्चा बनाने की जगह भाजपा विरोधी मोर्चा बनाना बेहतर होगा। पवार ने खुद बीजू जनता दल, टीडीपी और टीआरएस जैसे दलों के मुखिया से मिलकर आम राय बनाने की बात कही।

ममता बोलीं – क्षेत्रीय पार्टियों को मिले महत्‍व

ममता बनर्जी का कहना था कि राज्यों में क्षेत्रीय पार्टियों को उनकी ताकत के हिसाब से महत्‍व मिलना चाहिए। भाजपा के खिलाफ जो सबसे मजबूत दला हो, उसी की अगुवाई में गठबंधन बनाकर चुनाव में उतरना फायदेमंद रहेगा। इसमें बड़ी पार्टियों को त्‍याग करना पड़ेगा। उन्होंने साफ किया कि भाजपा के खिलाफ विपक्ष का एक ही उम्मीदवार खड़ा करना बेहतर होगा। ममता ने कांग्रेस को सलाह दी कि वह कर्नाटक विधानसभा चुनाव में अकेले लड़ने की बजाय देवेगौड़ा की पार्टी जनता दल (सेक्युलर) के साथ मिलकर चुनाव लड़े।

सोनिया गांधी से नहीं हो पाई मुलाकात

ममता बनर्जी ने मंगलवार को संसद भवन में सोनिया गांधी से भी मुलाकात की कोशिश की। उन्होंने पार्टी सांसद दिनेश त्रिवेदी को संदेश लेकर कांग्रेस दफ्तर भेजा, मगर तब तक सोनिया संसद भवन से जा चुकी थीं।

किन-किन नेताओं से मिलीं ममता ?

संसद भवन में ममता ने समाजवादी पार्टी के रामगोपाल यादव व धर्मेंद्र यादव, राजद की मीसा भारती व जयप्रकाश यादव, टीआरएस प्रमुख और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की सांसद पुत्री के. कविता, डीएमके की कनिमोझी, शिवेसना के संजय राउत, बीजद, एआईयूडीएफ, वाईएसआर कांग्रेस के सांसदों से भी मुलाकात की। संसद के सेंट्रल हॉल में उन्होंने दूसरे दलों के सांसदों के साथ राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा की।

आज भाजपा के बागी नेताओं से मिलेंगी

ममता ने बताया कि बुधवार को वह भाजपा के असंतुष्ट नेताओं अरुण शौरी, यशवंत सिन्हा और शत्रुघ्न सिन्हा से मुलाकात करेंगी। ममता बनर्जी ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि बीजेपी सबसे ज्यादा सांप्रदायिक पार्टी है।

Related Post

अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 181 सांसद, शिवसेना साथ छोड़े तो भी जीतेंगे मोदी

Posted by - March 16, 2018 0
नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा न दिए जाने को मुद्दा बनाकर वाईएसआर कांग्रेस, मोदी सरकार के…

सुनंदा पुष्कर केस : कोर्ट ने खारिज की स्वामी की एसआईटी जांच की याचिका

Posted by - October 26, 2017 0
दिल्‍ली हाईकोर्ट ने कहा – मिसयूज न करें कोर्ट का, यह जनहित नहीं पॉलिटिकल याचिका सुनंदा पुष्कर मामले में सुब्रमण्यम स्वामी…

फैन्स-क्रिटिक्स को नहीं भायी सलमान की ‘रेस’, पहले दिन औंधे मुंह गिरी फिल्म

Posted by - June 15, 2018 0
मुंबई। बॉलीवुड एक्टर सलमान खान की फिल्म ‘रेस 3’ ईद के मौके पर रिलीज हो गई है। ‘रेस 3’ सिनेमाघरों में 3D  में भी रिलीज हुई…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *