CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग लाने की तैयारी में कांग्रेस

41 0
  • कांग्रेस ने ड्राफ्ट बनवाकर कई पार्टियों के पास बंटवाया, साथ आए करीब आधा दर्जन दल

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चार जजों द्वारा आरोप लगाए जाने के बाद सुर्खियों में आए देश के मुख्‍य न्‍यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ कांग्रेस महाभियोग लाने की तैयारी कर रही है। कांग्रेस ने इस महाभियोग का प्रस्तावित ड्राफ्ट कई विपक्षी पार्टियों के पास भेजा है। एनसीपी ने महाभियोग के इस प्रस्ताव की पुष्टि भी की है। एनसीपी के नेता डीपी त्रिपाठी ने बताया कि कई विपक्षी दलों ने इस प्रस्ताव पर हस्ताक्षर भी किए हैं। एनसीपी और लेफ्ट पार्टियों ने इस प्रस्ताव पर अपनी मंजूरी भी दे दी है।

काफी पहले से चल रही थी तैयारी
बताया जा रहा है कि चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया के खिलाफ महाभियोग को लेकर विरोधी दलों में पिछले काफी समय से चर्चा चल रही थी। कांग्रेस ने यह प्रस्ताव संसद में लाने के लिए कई दलों से बातचीत भी की थी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, तृणमूल कांग्रेस, नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी, टीएमसी और सीपीएम सहित कई विपक्षी दलों के नेताओं से चर्चा के बाद इसे लाने का फैसला किया गया।

राज्‍यसभा में पेश करेंगे प्रस्‍ताव

सूत्रों से जानकारी मिली है कि इस प्रस्ताव को राज्यसभा में पेश किया जाएगा। राज्यसभा में पेश करने के पीछे वजह यह बताई जा रही है कि प्रस्ताव लाने के लिए कम से कम 50 सांसदों की सहमति जरूरी है। इस समय लोकसभा में विपक्ष के पास यह आंकड़ा नहीं है। राज्यसभा में विपक्ष मजबूत है, इसलिए महाभियोग के इस प्रस्ताव को राज्यसभा में लाया जाएगा।

कब लाया जाएगा महाभियोग प्रस्‍ताव ?

माना जा रहा है कि बजट सत्र के अंतिम दिनों में या फिर बाद में चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव लाया जा सकता है। बता दें कि पिछले 16 दिनों से संसद में लगातार गतिरोध बना हुआ है और विपक्ष अभी सदन में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ही नहीं ला पाया है। इस कारण संभव है कि सीजेआई के खिलाफ महाभियोग बाद में लाया जाए।

महाभियोग लाने की क्या है वजह ?
रिपोर्ट के अनुसार, सीजेआई दीपक मिश्रा के खिलाफ इसी साल जनवरी में सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने जो आरोप लगाए थे, उन्‍हीं को महाभियोग के प्रस्ताव में आधार बनाया जा रहा है। जस्टिस चेलमेश्वर के आवास पर जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस कुरियन जोसेफ और जस्टिस मदन बी लोकुर ने संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेन्स कर कहा था कि सुप्रीम कोर्ट में सबकुछ ठीकठाक नहीं चल रहा है। आरोप है कि वरीयता के क्रम में काम नहीं दिए जाने से नाराज हुए वरिष्ठ जजों के मुद्दे को सुलझाने में दीपक मिश्रा पूरी तरह विफल रहे हैं।

Related Post

जम्मू-कश्मीर में बातचीत शुरू करेगी सरकार : राजनाथ

Posted by - October 23, 2017 0
पूर्व आईबी प्रमुख दिनेश्वर शर्मा होंगे केंद्र सरकार के प्रतिनिधि, बातचीत के बाद केंद्र को सौंपेंगे रिपोर्ट  गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने…

ताजमहल पहुंचे योगी, लगे नारे, सैलानियों संग खिंचवाई फोटो

Posted by - October 26, 2017 0
उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को आगरा दौरे पर पहुंचे. CM ने वहां विश्व प्रसिद्ध ताजमहल का दौरा किया.…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *