मायावती का ऐलान – सपा और बसपा के गठजोड़ पर नहीं पड़ेगा कोई असर

41 0
  • हार के बावजूद मायावती ने अखिलेश पर जताया भरोसा, भाजपा का खेल बिगाड़ सकती है नई जुगलबंदी

लखनऊ। राज्यसभा चुनाव में बीजेपी के हाथों हार मिलने के बाद शनिवार (24 मार्च) को बसपा सुप्रीमो मायावती मीडिया के सामने आईं। उन्‍होंने कहा, ‘बसपा-सपा के साथ आने से भाजपा की मुश्किलें बढ़ी हैं। यह गठजोड़ तोड़ने के लिए बीजेपी तमाम तरह की कोशिशें कर रही है, लेकिन उसकी यह कोशिश कभी सफल नहीं होगी।’ अगर ये दोस्ती लंबी चली तो 2019 के आम चुनाव में बीजेपी के लिए यूपी में बड़ी अड़चन आ सकती है।

सफल नहीं होगी भाजपा की चाल

मायावती ने कहा – ‘राज्यसभा में हार का बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के गठबंधन पर जरा सा भी असर नहीं पड़ेगा। हर हाल में हम लोकसभा चुनाव में बीजेपी को रोकेंगे। मैं यह कहना चाहूंगी कि सपा-बसपा का गठबंधन तोड़ने में बीजेपी सफल नहीं हो पाएगी। कल का परिणाम सपा-बसपा संबंध पर थोड़ा सा भी असर नहीं डाल पाएगा।’

गेस्‍ट हाउस कांड में अखिलेश को दी क्‍लीन चिट

बसपा सुप्रीमो ने गेस्ट हाउस कांड को लेकर बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यह जख्मों पर नमक छिड़कने जैसा है। उन्होंने कहा कि उसके लिए किसी भी सूरत में अखिलेश यादव को जिम्मेदार ठहराना गलत है। उस घटना के लिए अखिलेश यादव को जिम्मेदार नहीं कहा जा सकता है, क्योंकि उस समय वह राजनीति में नहीं थे।

डीजीपी की नियुक्ति पर उठाए सवाल

मायावती ने डीजीपी ओपी सिंह की नियुक्ति पर सवाल उठाते हुए कहा कि जिस समय गेस्ट हाउस कांड हुआ, उस समय के एसएसपी को भाजपा ने डीजीपी बनाकर अपनी मंशा जाहिर कर दी है। साथ ही उन्‍होंने आशंका भी जताई कि ऐसे अफसर की नियुक्ति करके भाजपा उनकी हत्या तो नहीं कराना चाहती है।

Related Post

तत्काल टिकट घोटाले में सीबीआई का असिस्टेंट प्रोग्रामर गिरफ्तार

Posted by - December 27, 2017 0
अवैध सॉफ्टवेयर के जरिए रेलवे की वेबसाइट हैक कर तत्काल टिकट बुकिंग में करता था धांधली   नई दिल्ली। सीबीआई…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *