यूपी राज्यसभा चुनाव : भाजपा के सभी 9 प्रत्याशी जीते, बसपा को करारा झटका

73 0
  • दूसरी वरीयता के वोटों की गिनती के बाद भाजपा के नौवें उम्‍मीदवार अनिल अग्रवाल जीते
  • सपा उम्‍मीदवार जया बच्‍चन जीतीं, लेकिन बसपा प्रत्‍याशी को नहीं जिता पाई समाजवादी पार्टी
  • बसपा और सपा के एक-एक विधायक ने की क्रॉस वोटिंग, दो विधायकों के वोट आयोग ने रद्द किए

नई दिल्ली/लखनऊ। छह राज्यों में राज्‍यसभा की 58 सीटों पर शुक्रवार (23 मार्च) को वोट डाले गए। इन सीटों में से 33 पर उम्‍मीदवार निर्विरोध चुने गए। यूपी में क्रॉस वोटिंग के कारण मतदान के समय खूब हंगामा भी हुआ। विरोध के चलते कुछ समय के लिए मतगणना रोकनी भी पड़ी। देर रात 10 बजे तक आए नतीजों में भाजपा के सभी 9 प्रत्‍याशी चुनाव जीत गए थे। सपा की जया बच्‍चन ने भी चुनाव जीतने में सफलता पाई।

हालांकि 10वीं सीट पर भाजपा के नौवें प्रत्‍याशी अनिल अग्रवाल और बसपा प्रत्‍याशी भीमराव अंबेडकर के बीच मामला उलझ गया था। बसपा या भाजपा में से किसी पार्टी के प्रत्‍याशी को जीत के लिए जरूरी पहली वरीयता के 37 वोट नहीं मिले, इसलिए दूसरे वरीयता के वोटों की गिनती करानी पड़ी। रात करीब 10 बजे दूसरी वरीयता के वोटों की गिनती के बाद भाजपा प्रत्‍याशी अनिल अग्रवाल को विजयी घोषित किया गया। इस नतीजे से बसपा को करारा झटका लगा है। बता दें कि यूपी उपचुनाव में गठबंधन के चलते सपा ने अपने अतिरिक्‍त वोट बसपा प्रत्‍याशी को दिए थे।

दो विधायकों के मत अवैध घोषित

चुनाव आयोग ने राज्यसभा चुनाव में दो मत अवैध घोषित कर दिए हैं। इनमें एक भाजपा का जबकि दूसरा बसपा का है। मत तकनीकी आधार पर रद्द किए गए हैं। इस बात की पुष्टि संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने की है। हालांकि ये किस विधायक के वोट हैं, इसका पता नहीं चल पाया है।

दो विधायकों ने की क्रॉस वोटिंग

इस बीच कुछ विधायकों के क्रॉस वोटिंग करने की भी खबर आ रही है, जिससे 10वीं सीट को लेकर मामला और उलझ गया है। सपा और बसपा को बड़ा झटका लगा है और दोनों ही पार्टियों के एक-एक विधायक ने भाजपा के समर्थन में मतदान किया। बसपा के विधायक अनिल सिंह ने भाजपा के समर्थन में वोट किया, वहीं सपा विधायक और नरेश अग्रवाल के बेटे विजय अग्रवाल ने भी भाजपा को वोट दिया है।

वोटिंग के बाद योगी से मिले राजा भैया

मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार, निर्दलीय विधायक राजा भैया दिनभर की वोटिंग के दौरान भले ही सपा को समर्थन की बात करते रहे लेकिन वोट देने के बाद उन्‍होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। उनकी इस मुलाकात को लेकर कई तरह के कयास लगाए जाने लगे। उन्होंने कहा कि उनका वोट गोपनीय है।

आरोप-प्रत्यारोप के चलते दो घंटा देर से शुरू हुई काउंटिंग

यूपी में राज्य सभा की 10 सीटों के लिए हुए चुनाव की मतगणना सत्ता पक्ष और विपक्ष की खींचतान के चलते निर्धारित समय शाम पांच बजे से शुरू नहीं हो पाई। दोनों पक्षों के आरोपों के चलते चुनाव आयोग ने मतगणना पर थोड़ी देर के लिए रोक लगा दी थी। इसके बाद चुनाव आयोग के पर्यवेक्षक ने आरोपों की जाँच करने के लिए सीसीटीवी फुटेज देखे। करीब 2 घंटे बाद शाम करीब 7 बजे मतगणना शुरू हो सकी।

छत्तीसगढ़ में भी क्रॉस वोटिंग
भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडेय छत्तीसगढ़ से राज्यसभा की एकमात्र सीट के लिए हुए चुनाव में जीत गई हैं। बीजेपी प्रत्याशी सरोज पांडे को 90 में से 51 सीटें मिलीं। यहां बीजेपी के अपने 49 विधायक हैं, जबकि एक निर्दलीय विधायक विमल चोपड़ा का भी उसे समर्थन प्राप्त था। कांग्रेस के लेखराम साहू को 36 वोट मिले। कांग्रेस के कुल 39 विधायक थे, जिनमें से 3 विधायकों ने वोट नहीं डाला।

33 सीटों पर निर्विरोध चुने गए प्रत्‍याशी
प्रदेश के हिसाब से सीटों की बात करें तो उत्तर प्रदेश में 10, बिहार और महाराष्ट्र में 6-6, मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल में 5-5, गुजरात और कर्नाटक की 4-4, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा और राजस्थान में 3-3, झारखंड की 2, छत्तीसगढ़, हिमाचल, हरियाणा और उत्तराखंड की 1-1 सीट पर चुनाव हुआ था। इनमें से 33 सीटों पर सदस्य 15 मार्च को ही निर्विरोध चुने जा चुके हैं। निर्विरोध चुने गए उम्‍मीदवारों में बीजेपी के 17, कांग्रेस के 4, बीजेडी के 3, आरजेडी के 2, टीडीपी के 2, जेडीयू के 2, शिवसेना, एनसीपी और वाईएसआरसी का एक-एक उम्मीदवार शामिल है।

Related Post

50 आईआईटीयंस ने पक्की नौकरी छोड़कर बनाई राजनीतिक पार्टी

Posted by - April 22, 2018 0
राजनीतिक संगठन का नाम रखा ‘बहुजन आजाद पार्टी’ (BAP), दलितों के लिए करेंगे संघर्ष बिहार चुनावों से करेंगे शुरुआत, पार्टी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *