स्कूली छात्रा की खुदकुशी मामले में बवाल, पैरेंट्स बोले – सीबीआई जांच हो

82 0
  • छात्रा के माता-पिता स्‍कूल के बाहर धरने पर बैठे, अन्‍य छात्रों के अभिभावकों ने भी किया प्रदर्शन

नोएडा/नई दिल्‍ली। दिल्ली के मयूर विहार फेज तीन के एल्कॉन पब्लिक स्कूल में नौवीं की छात्रा द्वारा खुदकुशी के मामला तूल पकड़ता जा रहा है। गुरुवार (22 मार्च) सुबह स्कूल के बाहर सैकड़ों की संख्‍या में छात्रों के अभिभावक पहुंच गए और प्रदर्शन शुरू कर दिया। खुदकुशी करने वाली छात्रा के माता-पिता स्‍कूल के बाहर धरने पर बैठ गए। उन्‍होंने पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है। आरोप है कि छात्रा ने स्कूल के शिक्षकों की ज्यादती से तंग आकर मंगलवार को फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी।

पुलिस प्रशासन के खिलाफ जताई नाराजगी

छात्रा के पिता ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि इस मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। उन्होंने सवाल किया कि कोई ऐसा कैसे सोच सकता है कि मानसिक और शारीरिक शोषण  को लेकर मेरी बेटी झूठ बोल रही थी? उन्होंने पुलिस प्रशासन पर सवाल उठाते हुए कहा कि वह दबाव में है। उन्होंने कहा कि मुझे इंसाफ चाहिए और इस मामले की सीबीआइ जांच होनी चाहिए।

दो टीचरों व प्रिंसिपल के खिलाफ दर्ज हुआ है मामला

बता दें कि छात्रा की खुदकुशी के मामले में एल्कॉन पब्लिक स्कूल के प्रिंसिपल, सोशल स्‍टडीज के शिक्षक राजीव सहगल व साइंस की महिला टीचर नीरज आनंद के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने, छेड़छाड़ व पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। छात्रा के पिता की तहरीर पर नोएडा कोतवाली सेक्टर-24 में रिपोर्ट दर्ज हुई है। नोएडा पुलिस की एक टीम बुधवार को मयूर विहार स्थित स्कूल पहुंची और जांच-पड़ताल की। फोरेंसिक टीम ने भी फिंगर प्रिंट व अन्य सुबूत इकट्ठा किए।

मामूली धाराएं लगाने पर मुंशी निलंबित

बताया जा रहा कि छात्रा के पिता की शिकायत को कोतवाली सेक्टर 24 पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया। पहले तीनों आरोपियों पर केवल आत्महत्या के लिए उकसाने की धारा लगाई गई। मीडिया में यह मामला उछलने के बाद एसएसपी ने कोतवाली सेक्टर-24 के मुंशी नृपेंद्र सिंह को निलंबित कर दिया। साथ ही एफआईआर में छेड़छाड़ (आईपीसी 354) व पॉक्सो एक्ट को जुड़वाया गया। गौतमबुद्धनगर के एसएसपी डॉ. अजयपाल शर्मा ने कहा कि घरवालों के सभी आरोपों को ध्यान में रखते हुए मामले की जांच की जा रही है। दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

 

Related Post

पैदल चलने वालों के लिए रायपुर बेहतर, ट्रैफिक कानून मानने में चेन्नई अव्वल

Posted by - April 12, 2018 0
नई दिल्ली। मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड बीते चार साल से भारत में सड़क सुरक्षा को लेकर इंडियन रोड सेफ्टी मिशन…

हिमाचल प्रदेश के केलांग में सुरंग के भीतर बनेगा देश का पहला रेलवे स्टेशन

Posted by - October 18, 2018 0
नई दिल्ली। कोलकाता और दिल्ली में तो कई ऐसे मेट्रो स्टेशन हैं, जो जमीन के नीचे बने हैं। इनमें दिल्‍ली…

सामाजिक बुराइयों के खिलाफ लड़ रहा महिलाओं का ‘ग्रीन गैंग’

Posted by - April 12, 2018 0
मिर्जापुर में गैंग की महिलाएं गांव-गांव जाकर नशा करने वालों के खिलाफ चलाती हैं मुहिम महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने और स्वच्छता…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *