जानिए, हर चौराहे पर आपको क्यों दिखते हैं इतने भिखारी?

68 0

नई दिल्ली। आपने देखा ही होगा कि चौराहों पर गाड़ी रुकते ही मैले-कुचैले कपड़े पहने भिखारियों की फौज आपके आस-पास मंडराने लगती है। हर चौराहे पर इनकी अच्छी-खासी तादाद होती है। बताते हैं आपको इसकी वजह। केंद्र सरकार के सामाजिक अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत की ओर से संसद में दिए गए आंकड़ों के मुताबिक भिखारियों की तादाद के मामले में यूपी, देश में नंबर दो पर है। वहीं, सबसे ज्यादा भिखारी पश्चिम बंगाल में हैं।

यूपी में कितने भिखारी ?
आंकड़ों के मुताबिक यूपी में भिखारियों की कुल संख्या 65 हजार 835 है। इनमें 41 हजार 859 पुरुष हैं। महिलाएं भी यूपी में भीख मांगने में पीछे नहीं हैं। कुल संख्या में से 23 हजार 976 महिला भिखारी यूपी में हैं।

देश में टॉप पर कौन सा राज्य ?
भिखारियों के मामले में देश में टॉप का राज्य पश्चिम बंगाल है। 81 हजार 244 भिखारी हैं। जबकि, बिहार नंबर तीन पर है। बिहार में 29 हजार 723 भिखारी हैं। पूर्वोत्तर भारत और पहाड़ी राज्यों में भिखारियों की संख्या सबसे कम है।

देश में कितने भिखारी ?
बता दें कि केंद्र सरकार के मुताबिक भारत में 4 लाख 13 हजार 670 लोग भीख मांगते हैं। इनमें 2 लाख 21 हजार 673 पुरुष और 1 लाख 91 हजार 977 महिलाएं हैं।

Related Post

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने इस तरह दिखाई बच्चों को स्वस्थ बनाने की राह

Posted by - November 24, 2018 0
नई दिल्ली। आमतौर पर निजी स्कूलों को सरकारी स्कूलों से बेहतर माना जाता है। माना जाता है कि निजी स्कूलों…

शादी की अटकलों पर दीपिका ने तोड़ी चुप्पी, दिया चौंका देने वाला बयान

Posted by - April 6, 2018 0
मुंबई। बॉलीवुड के सबसे हॉट कपल रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण अक्सर अपनी शादी को लेकर खबरों में रहते हैं। साल 2018 की शुरुआत में दीपिका के जन्मदिन…

बजाज जल्द ही लेकर आ रही है 250 सीसी पल्सर,जानें कितनी होगी कीमत

Posted by - April 16, 2018 0
नई दिल्ली। ऑटो मोबाइल कंपनी बजाज इन दिनों अपनी नेक्स्ट जेनरेशन पल्सर बाइक पर मशक्‍कत कर रही है। ख़बरों की मानें तो बजाज मार्केट में…

शर्मनाक : हॉस्टल में गंदे सेनेटरी पैड मिलने पर वार्डन ने उतरवाए छात्राओं के कपड़े

Posted by - March 26, 2018 0
मध्‍य प्रदेश के डॉ. हरिसिंह गौर यूनिवर्सिटी का मामला, पीडि़त छात्राओं ने की कुलपति से शिकायत भोपाल। मध्‍य प्रदेश के सागर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *