भाजपा से नाराज ओमप्रकाश राजभर को अमित शाह ने बातचीत के लिए बुलाया

48 0
  • प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडे और उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा भी बैठक में रहेंगे मौजूद

लखनऊ। आखिरकार योगी सरकार में मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर की जिद काम कर गई। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बीती रात राजभर को मिलने के लिए दिल्‍ली बुलाया है। मंगलवार (20 मार्च) की सुबह वह फ्लाइट से दिल्‍ली रवाना हो गए।

योगी सरकार की सालगिरह कार्यक्रम में नहीं हुए शामिल

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की सरकार से बेहद नाराज चल रहे राजभर दोपहर करीब दो बजे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मिलेंगे। बताया जा रहा है कि राजभर के अलावा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडे और उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा भी इस बैठक में मौजूद रहेंगे। गौरतलब है कि अति पिछड़ी ‘राजभर’ जाति में अच्छा रसूख रखने वाले ओमप्रकाश राजभर ने योगी सरकार की सालगिरह के दिन आयोजित कार्यक्रम में शामिल न होकर बीजेपी के सामने बड़ी दुविधा खड़ी कर दी थी। उनके बगावती रुख को देखते हुए योगी सरकार की पहली सालगिरह का जश्न भी फीका पड़ गया था।

क्‍यों नाराज हैं राजभर ?

दरअसल, राजभर प्रदेश सरकार में अपनी उपेक्षा से बेहद नाराज हैं। वह बीजेपी के मंत्रियों द्वारा उन पर सार्वजानिक रूप से की जा रही टिप्पणियों से तो खफा हैं ही, साथ ही बीजेपी की ओर से अन्य राजभर जाति के नेताओं को दी जा रही तवज्जो से भी खुश नहीं हैं। राजभर की नाराजगी यहीं तक सीमित नहीं है, बताया जा रहा कि वह मंत्रिमंडल में अपने पोर्टफोलियो से भी नाराज हैं। योगी के मनाए जाने के बाद भी उनकी नाराजगी खत्म नहीं हुई।

राज्‍यसभा चुनाव में भाजपा के लिए खड़ी कर सकते हैं मुश्किल

राजभर ने सोमवार (19 मार्च) को ही कह दिया था कि अगर उनकी बातचीत अमित शाह से नहीं होती है तो वह आगामी राज्‍यसभा चुनाव में भाजपा के पक्ष में वोट नहीं करेंगे। उनके इस कदम से भाजपा को सूबे की 10 सीटों के लिए इस हफ्ते होने वाले राज्यसभा चुनाव में मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है। भाजपा के साथ मिलकर पिछला विधानसभा चुनाव लड़ने वाली सुभासपा के चार विधायक राज्यसभा चुनाव में भाजपा का खेल बिगाड़ सकते हैं। प्रदेश की 403 सदस्यीय विधानसभा में अपने संख्या बल से भाजपा 10 में से 8 सीटें आसानी से जीत सकती है, मगर उसने अपना नौवां प्रत्याशी भी खड़ा किया है। राजभर की पार्टी अगर राज्यसभा चुनाव में भाजपा के पक्ष में वोट नहीं करती तो भाजपा को अपना नौवां प्रत्याशी जिताने में मुश्किल होगी।

Related Post

भाजपा नेता अमू बोले – अब मेरा सपना लाल चौक पर फारुक अब्दुल्ला को मारूं थप्पड़

Posted by - November 29, 2017 0
दीपिका के सिर पर 10 करोड़ का इनाम रखने वाले बीजेपी नेता सूरजपाल अमू ने दिया पद से इस्तीफा चंडीगढ़।…

आईफोन रिपेयर न करने पर ऑस्ट्रेलिया में एपल पर 45 करोड़ जुर्माना

Posted by - June 19, 2018 0
कैनबरा। ऑस्ट्रेलिया की संघीय अदालत ने एपल पर उपभोक्ताओं को भ्रमित करने के लिए मंगलवार (19 जून) को 6.6 मिलियन डॉलर…

चुनाव में नहीं चलेगा कालाधन, चुनावी बॉन्ड्स से ही चंदा लेंगी राजनीतिक पार्टियां

Posted by - January 2, 2018 0
चुनावी फंडिंग को साफ-सुथरा और पारदर्शी बनाने के लिए सरकार ने उठाया महत्वपूर्ण कदम वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा…

मंत्री बनते ही कम्प्यूटर बाबा के बदले सुर, शिवराज पर लगाया था घोटाले का आरोप

Posted by - April 4, 2018 0
भोपाल। मध्यप्रदेश सरकार ने जिन पांच संतों को राज्य मंत्री का दर्जा दिया है, उनमें कम्प्यूटर बाबा भी शामिल हैं।…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *