OMG: साल 2135 में धरती से खत्म हो जाएगा जीवन !

68 0

वॉशिंगटन। वैज्ञानिकों ने आगाह किया है कि साल 2135 में धरती पर से जीवन का खात्मा हो सकता है। इसकी वजह है अंतरिक्ष में घूमती एक चीज। वैज्ञानिकों ने इस चीज की गतिविधि देखते हुए चेताया है कि अगर इसने धरती के वायुमंडल में प्रवेश किया, तो हर जीवित वस्तु खत्म हो जाएगी।

किससे है जीवन को खतरा ?
वैज्ञानिक जिस अंतरिक्ष पिंड से खतरा बता रहे हैं, वो एक धूमकेतु है। इस धूमकेतु का नाम बेन्नू है और ये 1600 फुट चौड़ा है। यानी अमेरिका के मशहूर एंपायर स्टेट बिल्डिंग जितना। वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर ये धूमकेतु धरती के वायुमंडल में आया, तो इतनी ऊर्जा निकलेगी कि सारे जीवित प्राणी मारे जाएंगे।

धरती से टकराने का कितना है खतरा ?
वैज्ञानिकों के मुताबिक बेन्नू के धरती से टकराने का खतरा 2700 में 1 है। यानी ये धूमकेतु काफी बड़ा खतरा बन सकता है। खास बात ये भी है कि इतने बड़े धूमकेतु को धरती से टकराने से रोकने के लिए नासा के पास कोई तकनीकी भी नहीं है। कहा जाता है कि परमाणु बम वाली मिसाइलों से धूमकेतुओं को नष्ट किया जा सकता है, लेकिन बेन्नू इतना बड़ा है कि उसे नष्ट करने के लिए बहुत बड़े परमाणु बम की जरूरत होगी और उसे धूमकेतु तक ले जाने के लिए भी विशाल रॉकेट बनाना होगा।

Related Post

अंग्रेजों की जीत का जश्न मनाने के दौरान पुणे में दो समुदायों में हिंसा

Posted by - January 2, 2018 0
उग्र लोगों ने किया जगह-जगह प्रदर्शन, कई गाडि़यों में लगाई आग, एक की मौत पुणे। पुणे जिले में भीमा-कोरेगांव की लड़ाई…

रोहिंग्या पर वीडियो पोस्ट करने पर छिना म्यांमार की सुंदरी से ताज?

Posted by - October 4, 2017 0
म्यांमार : म्यांमार की एक सुंदरी श्वे यान शी का कहना है कि रोहिंग्या मुस्लिम चरमपंथियों पर एक ग्राफिक वीडियो…

उन्नाव गैंगरेप : पीड़िता के चाचा बोले – धमका रहे हैं विधायक सेंगर के गुंडे

Posted by - April 15, 2018 0
कहा – गांव छोड़ने की दे रहे धमकी, सबूत नष्ट करने का भी लगाया आरोप लखनऊ/उन्नाव। उन्नाव गैंगरेप में आरोपी…

हिमाचल प्रदेश और पंजाब में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात, स्कूल-कॉलेज बंद

Posted by - September 24, 2018 0
चंडीगढ़/शिमला। हिमाचल प्रदेश और पंजाब के कई इलाकों में भारी बारिश के कारण बाढ़ के हालात बन गए हैं। पंजाब…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *