किसानों के आगे झुके सीएम, फडणवीस सरकार ने मानीं मांगें

98 0
  • आंदोलन खत्म, महाराष्ट्र सरकार से 6 महीने का भरोसा लेकर लौटे 6 दिन पैदल चलकर आए किसान

मुंबईकर्जमाफी समेत अन्‍य मांगों को लेकर मुंबई पहुंचे 35 हजार किसानों को महाराष्ट्र सरकार मनाने में कामयाब रही। किसानों ने सोमवार (12 मार्च) शाम अपना आंदोलन वापस ले लिया। मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने कहा, हमने किसानों की ज्यादातर मांगें मान ली हैं। हमने उन्‍हें लिखित आश्वासन भी दिया है।’ उधर, मंत्री विष्णु सावरा ने कहा कि छह महीने के अंदर इन मांगों पर काम शुरू हो जाएगा। बता दें कि किसानों की यह रैली नासिक से शुरू होकर सोमवार तड़के मुंबई के आजाद मैदान पहुंची थी। उन्होंने विधानसभा का घेराव करने की चेतावनी दी थी।

सरकार और किसानों के बीच 3 घंटे मीटिंग

किसानों से मीटिंग के बाद महाराष्ट्र सरकार में सिंचाई मंत्री गिरीश महाजन ने कहा, ‘किसानों की 80 फीसदी मांग को मान लिया गया है। आदिवासी राशन कार्ड 3 महीने में दिया जाएगा। वन जमीन को लेकर सरकार ने किसानों से 6 महीने का टाइम मांगा है।’ उधर, सूत्रों के अनुसार सरकार ने किसानों की कर्जमाफी की मांग भी मान ली है। सरकार किसानों के 1.5 लाख तक के कर्ज माफ करेगी। इसकी मियाद अब जून 2017 कर दी गई है, जो पहले जून 2016 थी। सरकार के लिखित आश्वासन देने पर किसानों ने आंदोलन वापस लेने का भरोसा दिया। सरकार और किसानों की बीच यह मीटिंग करीब तीन घंटे चली। इसमें करीब 14 मुद्दों पर चर्चा की गई।

किसान बोले – सरकार से कामयाब रही बातचीत

किसानों ने सरकार के साथ हुई बातचीत को कामयाब बताया। रैली में आए एक किसान संजय सुखदेव ने कहा, ‘सरकार ने हमारी मांगें मान ली हैं। हम खुश हैं। सभी दलों के नेताओं और मुंबई की जनता ने हमारा पूरा सहयोग किया। हमारी ताकत उनकी ताकत से मिलने के बाद ही यह परिणाम सामने आया है।’ बता दें कि किसानों के इस आंदोलन को कांग्रेस, शिवसेना, मनसे, एनसीपी और लेफ्ट समेत विपक्ष की हर पार्टी ने समर्थन दिया था। रविवार देर रात किसानों से मिलने पहुंचे राज ठाकरे ने कहा, ‘उन्हें जब भी मेरी जरूरत होगी, मैं हाजिर हो जाऊंगा।’ कांग्रेस ने पहले ही इस मोर्चे को समर्थन दे दिया था। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि ये मामला केवल महाराष्ट्र के किसानों का नहीं, बल्कि पूरे देश के किसानों का है

किसानों के घर लौटने के लिए स्‍पेशल ट्रेन

किसानों ने घर लौटने के लिए सरकार से स्पेशल ट्रेन चलाने की मांग की थी, जिसे सरकार ने मान लिया। मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस से दो ट्रेनें रात 8:50 बजे और रात 10 बजे रवाना होंगी। एक ट्रेन भुसावल तक और दूसरी नागपुर तक जाएगी।

Related Post

मोहन भागवत बोले – भारत में सुरक्षित हैैं अल्पसंख्यक

Posted by - December 26, 2017 0
संघ प्रमुख बोले – राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ हिंदुत्व के लिए प्रतिबद्ध, नहीं करता है राजनीति अंगुल (ओडिशा)। राष्ट्रीय स्वयं सेवक…

हिमाचल के बच्चों को आगरा लेकर आ रही बस पलटी, ड्राइवर की मौत, तीन दर्जन घायल

Posted by - November 3, 2017 0
आगरा (जेएनएन)। हिमाचल प्रदेश के मंडी के एक स्कूल के बच्चों को लेकर ताजनगरी आगरा आ रही बस पलट गई। यमुना…

फुटबॉलर केपरनिक को ब्रैंड अंबेसडर बनाने पर भड़के अमेरिकी, जलाए नाइकी के जूते

Posted by - September 5, 2018 0
न्यूयॉर्क। खेलों से जुड़े सामान बनाने वाली मशहूर कंपनी नाइकी ने जबसे फुटबॉलर कॉलिन केपरनिक को अपना ब्रैंड अबेंसडर बनाया…

आपकी नींद का देश के आर्थिक नुकसान से है सीधा रिश्ता ! जानिए कैसे

Posted by - June 5, 2018 0
विक्टोरिया। तमाम लोग नींद न आने यानी स्लीप एप्निया के शिकार होते हैं। रात-रात भर जागते हैं। इलाज कराते-कराते परेशान…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *