Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

वित्तीय अनियमितता में फंसीं मॉरीशस की राष्ट्रपति, जल्द देंगी इस्तीफा

119 0
  • एनजीओ द्वारा जारी किए गए क्रेडिट कार्ड से इटली और दुबई में अपने लिये की थी खरीदारी

पोर्ट लुईस वित्‍तीय अनियमितताओं के आरोप में फंसी मॉरीशस की पहली महिला राष्‍ट्रपति अमीनाह गुरीब-फकीम जल्‍द अपने पद से इस्‍तीफा देंगी। मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनॉथ ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। जुगनॉथ ने कहा, ‘गणराज्य की राष्ट्रपति ने मुझसे कहा कि वह पद से इस्तीफा दे देंगी तथा हम उनके पद से हटने की तारीख पर राजी हो गए।’ हालांकि उन्होंने उनके इस्तीफे की तारीख नहीं बताई।

आरोपों से इनकार

2015 में मॉरीशस की पहली महिला राष्ट्रपति बनीं गुरीब-फकीम पर आरोप है कि उन्‍होंने एक एनजीओ से मिले बैंक कार्ड का इस्‍तेमाल निजी खरीदारी के लिए इस्तेमाल किया। हालांकि अमीना गुरीब-फकीम ने खुद पर लगे आरोपों से इनकार किया है। उनका कहना है कि उन्होंने एनजीओ का सारा पैसा वापस कर दिया था। 7 मार्च को दिए अपने एक भाषण में उन्होंने कहा था, ‘मुझ पर किसी की देनदारी नहीं है। यह मुद्दा एक साल बाद क्यों उठाया जा रहा है?’

इटली व दुबई में की खरीदारी

दरअसल, मॉरीशस के एक अखबार ने रिपोर्ट दी थी कि अमीना ने प्लेनेट अर्थ इंस्टीट्यूट नाम के एनजीओ द्वारा जारी किए गए क्रेडिट कार्ड से इटली और दुबई में अपने लिये खरीदारी की थी। यह संस्था शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए स्कॉलरशिप देती है। राष्ट्रपति अमीना ने इसमें अवैतनिक निदेशक के रूप में काम किया था। इस बारे में एनजीओ की ओर से कोई टिप्पणी नहीं आई है। अब अमीनाह गुरीब का नाम भी उस लिस्ट में शामिल हो जाएगा, जिसमें देश के नेताओं और अधिकारियों को भ्रष्टाचार या दुर्व्यवहार के आरोपों में इस्तीफा देना पड़ा हो। पिछले साल नवंबर में पूर्व उप प्रधानमंत्री को अनुचित टिप्पणियों के कारण इस्तीफा देना पड़ा था, वहीं सितंबर में अटॉर्नी जनरल ने मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जांच के लिए इस्तीफा दिया था।  (एजेंसी)

Related Post

शोध : वैज्ञानिकों ने विकसित की मटर की नई प्रजाति, किसान ले सकेंगे अधिक पैदावार

Posted by - October 3, 2018 0
नई दिल्‍ली। भारतीयों के भोजन में मटर प्रमुख रूप से शामिल है। इसे प्रोटीन का अच्‍छा स्रोत माना जाता है…

बॉल टैम्परिंग : स्टीव स्मिथ ने रोते हुए मांगी माफी, बोले – इसके लिए मैं ही जिम्मेदार

Posted by - March 29, 2018 0
सिडनी। बॉल टैम्परिंग विवाद के बाद स्वदेश लौटे स्टीव स्मिथ ने गुरुवार को रोते हुए सार्वजनिक रूप से सबसे माफी…

PM की रैली में पंडाल गिरा, 24 घायल, एसपीजी जवानों को मदद के लिए भेजा

Posted by - July 16, 2018 0
पश्चिम बंगाल के मिदनापुर में हो रही थी रैली, घायलों को देखने अस्पताल पहुंचे प्रधानमंत्री कोलकाता​। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *