कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र में पाक को भारत ने दिया करारा जवाब

27 0
  • भारत ने लगाई पाकिस्तान को लताड़, कहा – असफल देश हमें अधिकार और लोकतंत्र का पाठ न पढ़ाएं

संयुक्‍त राष्‍ट्र। पाकिस्तान द्वारा संयुक्त राष्ट्र में एक बार फिर कश्मीर का मुद्दा उठाने पर भारत ने उसे करारा जवाब दिया है। संयुक्त राष्ट्र के ह्यूमन राइट्स काउंसिल (यूएनएचआरसी) के 37वें सेशन में भारत ने कहा कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है जहां आतंकवाद फल-फूल रहा है। ओसामा बिन लादेन को वहां सुरक्षा प्राप्त थी। हाफिज सईद पाकिस्तान में खुलेआम घूमता है और सरकार उसके खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय उसे पनाह देती है।

आतंकवाद को संरक्षण दे रहा पाकिस्‍तान

भारत के स्थायी मिशन की सेकंड सेक्रटरी मिनी देवी कुमम ने पाकिस्तान को लताड़ लगाते हुए कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के रेजॉलूशन 1267 का उल्लंघन करते हुए पाकिस्तान सरकार यूएन द्वारा आतंकवादी घोषित किए गए हाफिज सईद को संरक्षण दे रही है। सईद पाकिस्तान में खुलकर अपनी गतिविधियां चला रहा है। यही नहीं, पाक में संयुक्त राष्ट्र द्वारा बैन किए गए आतंकी संगठनों को राजनीति की मुख्यधारा में लाने का काम जारी है। अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन कर ये संगठन पाकिस्तान में फंड इकट्ठा कर रहे हैं।’ कुमम ने कहा कि पाकिस्तान लगातार भारतीय सीमा पर आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है।

हमें सीख न दे पाकिस्‍तान

मुंबई, पठानकोट और उड़ी हमलों का जिक्र करते हुए कुमम ने कहा, ‘हम अभी तक पाकिस्तान सरकार की ओर से 2008 के मुंबई हमले और 2016 के उड़ी और पठानकोट हमले में शामिल लोगों को सामने लाने और उन पर कार्रवाई का इंतजार कर रहे हैं।’ पाकिस्तान को आड़े हाथों लेते हुए मिनी देवी कुमम ने कहा, ‘पाकिस्तान हमें मानवाधिकारों और लोकतंत्र को लेकर लेक्चर देता है, जबकि उसके यहां खुद आतंकवादी खुलेआम घूमते हैं। दुनिया को ऐसे देश से लोकतंत्र और अधिकारों पर पाठ की जरूरत नहीं, जिसकी खुद की छवि एक असफल देश की है।’

जबरन धर्म परिवर्तन का मुद्दा उठाया

इस मौके पर भारत की ओर से पाकिस्तान में हिंदुओं, सिखों, ईसाइयों समेत अल्पसंख्यकों की जबरन शादी व धर्म परिवर्तन का मुद्दा भी उठाया गया। भारत की ओर से कुमम ने मांग की कि पाकिस्तान को अपने देश में अल्पसंख्यकों के जबरन धर्म परिवर्तन को खत्म करना चाहिए। भारत ने सुरक्षा एजेंसियों द्वारा सरकार से असहमति जताने वाले राजनीतिज्ञों व आम नागरिकों के गायब होने और हत्या किए जाने की भी आलोचना की।   (एजेंसी)

Related Post

जानते हैं क्या है न्यू वर्ल्ड सिंड्रोम? भारत में 75% लोग आ चुके हैं इसकी चपेट में

Posted by - August 14, 2018 0
नई दिल्ली। न्यू वर्ल्ड सिंड्रोम…शायद ये नाम आपने पहली बार सुना होगा। अधिकतर लोगों को इसकी जानकारी नहीं है जबकि…

भारत के लिए खुशखबरी : अमेरिका को पछाड़ देंगी एशिया की ये 10 अर्थव्यवस्थाएं

Posted by - July 22, 2018 0
वर्ष 2030 तक एशिया के 10 देशों की सम्मिलित जीडीपी से पिछड़ जाएगी अमेरिकी इकॉनमी नई दिल्ली। भारत समेत एशिया…

नोटबंदी के बाद बैंकों में जमा हुए रिकॉर्ड जाली नोट, संदिग्ध लेनदेन में 480% का इजाफा

Posted by - April 22, 2018 0
वित्त मंत्रालय के तहत काम करने वाली फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट की रिपोर्ट में खुलासा 2016-17 में जाली करेंसी के लेनदेन…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *