सावधान, सोनौली बॉर्डर पर तैनात हैं ‘हनी गर्ल’ !

45 0
  • तस्करी, नशा और अन्य आपराधिक गतिविधियों में सहूलियत के लिए होता है इन ‘हनी गर्ल’ का इस्‍तेमाल

शिवरतन कुमार गुप्ता ‘राज़’

महराजगंज। भारत-नेपाल का व्यस्ततम और चर्चा में रहने वाले महराजगंज जिले के सोनौली बॉर्डर पर ‘हनी गर्ल्‍स’ का एक संगठित नेटवर्क सक्रिय है। सोनौली के बड़े-बड़े कारोबारियों से लेकर सीमा पर तैनात एसएसबी, पुलिस, कस्टम और अन्य विभागों के लोगों को ये ‘हनी गर्ल’ अपने चंगुल में फंसाने के प्रयास में हैं।

नेपाल की एक संस्था की रिपोर्ट को मानें तो इन ‘हनी गर्ल’ का इस्‍तेमाल बॉर्डर पर तस्करी, नशा और अन्य आपराधिक गतिविधियों में सहूलियत लेने के लिए किया जा रहा है। नेपाल के कुछ विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि ‘हनी गर्ल’ के रूप में काम करने वाली अधिकतर युवतियां एचआईवी पॉजीटिव हैं।

करीब आठ़ वर्ष पूर्व 2009 में भी इसी तरह ‘हनी गर्ल’ के नेटवर्क की सूचना पर भारत सरकार के निर्देश पर सोनौली सीमा पर विशेष ‘एडवाइज़री’ जारी की गई थी। जगह-जगह जागरूकता और एचआईवी जांच कैंप लगाए गए थे। इस दौरान कुछ एसएसबी जवानों के ‘हनी गर्ल’ का शिकार होने और एचआईवी पॉजीट़िव होने की ख़बरें भी सामने आई थीं।

अभी हाल ही में कश्मीर में तैनात भारतीय सेना के एक अधिकारी द्वारा पाकिस्तान की एक ‘हनी गर्ल’ के चक्कर में फंसकर भारतीय सुरक्षा से जुड़ी कुछ़ गोपनीय जानकारियों को लीक करने की बात सामने आई थी। इसके बाद ही सीमा पर तैनात सेना व अर्धसेना के जवानों को ‘हनी गर्ल’ से अलर्ट रहने के निर्देश जारी किए गए हैं।

Related Post

माया का निशाना, कहा – अंबेडकर का नाम लेकर दलितों पर अत्याचार करती है बीजेपी

Posted by - March 26, 2018 0
लखनऊ। यूपी में हुए दो उप चुनाव, राज्यसभा चुनाव और होने जा रहे विधान परिषद चुनावों के लिए बीएसपी ने…

गोरखपुर दंगा : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर नहीं चलेगा केस

Posted by - February 22, 2018 0
इलाहाबाद हाईकोर्ट की डिविजन बेंच ने खारिज की मुकदमा चलाने की मांग वाली याचिका इलाहाबाद। वर्ष 2007 में गोरखपुर जिले…

SC/ST एक्ट पर कोर्ट की तल्ख टिप्पणी – ‘…इसका मतलब हम सभ्य समाज में नहीं रहते’

Posted by - May 16, 2018 0
सुप्रीम कोर्ट ने कहा – ‘अनुच्‍छेद-21 में जीवन के मौलिक अधिकार के खिलाफ संसद भी नहीं बना सकती कानून’ केन्द्र…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *