‘जो हमें सांप-छछूंदर बता रहे, उन्हें मैंने सदन में गूंगा बैठे और रोते देखा है’

143 0
  • गोरखपुर उपचुनाव : सपा प्रत्याशी प्रवीण के पक्ष में जनसभा कर अखिलेश ने सीएम योगी पर किया पलटवार
  • सपा प्रमुख ने साधा मुख्‍यमंत्री पर निशाना, बोले – वह कहते हैं कि वे हिंदू हैं, तो हम हिंदू नहीं हैं तो कौन हैं

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर में बुधवार (7 मार्च) को पूर्व सीएम अखिलेश यादव योगी आदित्‍यनाथ पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा, ‘मैं विधानसभा के सत्र में सुन रहा था, नेता प्रतिपक्ष को जवाब देते हुए नेता सदन योगी आदित्यनाथ खुद को हिंदू बताते हुए लंबा-चौड़ा भाषण दे रहे थे। आप बताइए हम लोग कौन हैं? हमको पिछड़ा और दलित करार दिया जाता लेकिन वह बताएं क्या हम हिंदू नहीं हैं? हिन्दू की परिभाषा क्या है? वे कहते हैं कि वह हिंदू हैं, अगर वह हिंदू हैं तो हम क्या हैं?

चंपा देवी पार्क में सपा प्रत्याशी प्रवीण निषाद के पक्ष में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए सपा मुखिया ने योगी पर पलटवार करते हुए कहा, ‘बसपा से हमने गठबंधन कर लिया तो हमको और बसपा को सांप-छछूंदर बताया जा रहा। वह जो बहुत बोल रहे हैं, उनको हमने संसद में चुप बैठे देखा है। उनको लोग टीवी पर सदन में रोते हुए भी देख चुके हैं। वह अब बताने लगे हैं कि हम सांप-छछूंदर हो गए हैं।’ बता दें कि सपा-बसपा के साथ आने पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गोरखपुर में एक रैली में कहा था – ‘जैसे कोई तूफान आता है तो सांप और छछूंदर एक साथ मिल कर खड़े हो जाते हैं, यही स्थिति दोनों दलों की है। ये गठबंधन विकास विरोधी है।’

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘जब हम सत्ता में थे तो थाने से लेकर कहीं कोई यादव अधिकारी या कर्मचारी तैनात होता था तो उसे मेरा रिश्तेदार बताया जाता था, लेकिन अब लखनऊ से लेकर यहां तक कौन थाने और कार्यालय चला रहा यह कौन बताएगा? वह क्यों नहीं बता रहे कि अब थानों में किसकी तैनाती हो रही, सरकारी ऑफिस कौन चला रहा?’ उन्होंने कहा कि हम समाजवादी लोग लैपटॉप बांटने वाले हैं, एंबुलेंस चलाने वाले हैं। मैं इंजीनियर हूं और हमने जिसको टिकट दिया, वह भी इंजीनियर है।

सपा सुप्रीमो ने कहा, ‘नोटबंदी में किसके रुपये बैंकों में जमा हुए? हम गरीबों के। वह भ्रष्टाचार पर दूसरे को कटघरे में खड़ा करते थे, अब क्यों नहीं बता रहे कि काला धन कब आएगा? हम नहीं कह रहे, आपकी सरकार के मंत्री और विधायक कह रहे कि भ्रष्टाचार कम नहीं हुआ बल्कि दुगुना हो गया। बैंकों से हजारों करोड़ रुपये लेकर वह जो भागा है, उसे किसने भगाया?’ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने चुटकी ली कि अब तो भ्रष्टाचारी पकड़े नहीं जा रहे बल्कि विदेश भाग रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार, समाजवादी सरकार के काम का मुकाबला नहीं कर सकती।

बीआरडी मेडिकल कॉलेज का मुद्दा उठाते हुए पूर्व सीएम ने कहा, ‘दर्जनों माताओं की गोद सूनी हो गई। ऑक्सीजन की कमी से बच्चे मरे और उनकी मां अपने बेटों का घर पर इंतजार करती रह गईं। समय से बच्चों को ऑक्‍सीजन मिल जाती तो उनकी जान नहीं जाती। एक मां के तो कई साल बाद जुड़वां बच्चे हुए, लेकिन ऑक्सीजन की कमी से दोनों बच्चे मर गए। हमारी सरकार नहीं थी, तब भी हमने पीड़ित परिवारों की मदद की। हमारी सरकार मदद करती थी तो यही लोग हिंदू-मुस्लिम का चश्मा लगा देते थे।’ उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमलावर होते हुए कहा, ‘बच्चे मरे तो मुख्यमंत्री कह रहे थे कि बच्चों के इलाज की जिम्मेदारी मेरी नहीं है। इनके मंत्री कहते हैं अगस्त में तो बच्चे मरते ही हैं। इनके राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि इन मौतों से हमारा कोई लेना-देना नहीं है।’ अखिलेश यादव ने वादा किया कि समाजवादी सरकार आई तो बच्चों की मौत की जांच कराएगी, जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई होगी।

सपा सरकार बनेगी तो चार गुना करेंगे पेंशन
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार ने समाजवादी पेंशन बंद कर दी है। अगर उनकी सरकार बनेगी तो वह अब समाजवादी पेंशन को चार गुना बढ़ा देंगे। पहले 500 मिलती थी, सत्ता में आएंगे तो 2000 रुपये हर महीना देंगे। जनसभा को नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी, पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष  डॉ. अयूब खान, निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. संजय निषाद सहित दर्जनों नेताओं ने संबोधित किया।

Related Post

कांग्रेस विधायक ने मारा चांटा तो महिला सिपाही ने भी जड़ा थप्पड़

Posted by - December 29, 2017 0
 शिमला। हिमाचल प्रदेश की कांग्रेस विधायक आशा कुमारी ने एक महिला कांस्टेबल को चांटा मार दिया लेकिन बदले में उन्हें भी…

तनुश्री के आरोपों पर पहली बार बोले नाना पाटेकर, सुनकर तनुश्री के भी उड़ जाएंगे होश

Posted by - September 28, 2018 0
मुंबई। एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने पिछले दिनों नाना पाटेकर पर आरोप लगाया था कि उन्‍होंने वर्ष 2009 में ‘हॉर्न ओके…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *