बिहार कांग्रेस में टूट, अशोक चौधरी समेत चार एमएलसी जदयू के साथ

76 0
  • राज्यसभा चुनाव के पहले बिहार की सियासत में बड़ा उलटफेर

पटना। बिहार की सियासत में बुधवार का दिन सियासी बवंडर के नाम रहा। पहले जीतन राम मांझी ने एनडीए छोड़ने का ऐलान किया फिर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक चौधरी के नेतृत्व में 4 नेताओं ने जेडीयू ज्वाइन करने का ऐलान कर दिया। ये चारों नेता कांग्रेस के एमएलसी हैं। यानी बिहार की सियासत में होली के पहले बड़ा उलटफेर देखने को मिला। उपचुनाव और राज्यसभा चुनाव के पहले जिस तरह की जोड़तोड़ की सियासत शुरू हुई है, वह आने वाले दिनों में कई और रंग दिखा सकती है।

अशोक चौधरी के साथ जिन और नेताओं ने कांग्रेस छोड़ी है, उनके नाम हैं दिलीप चौधरी, रामचंद्र भारती और तनवीर अख्तर। ये लोग जेडीयू में शामिल होंगे। अशोक चौधरी कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे हैं। करीब 2 दशक तक कांग्रेस से जुड़े रहे। इनके पिता महावीर चौधरी कांग्रेस के बड़े नेता थे। अशोक चौधरी ने साफ किया कि उन्हें बार-बार पार्टी में अपमानित किया गया। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौधरी ने पार्टी अध्यक्ष कौकब कादरी पर निशाना साधा और कहा कि उन्हें किसी पद का लालच नहीं है। उन्‍होंने अपनी अंतरात्मा की आवाज सुनी और पार्टी छोड़ने का फैसला किया। उधर, जैसे ही चौधरी गुट का यह फैसला सार्वजनिक हुआ, बिहार कांग्रेस के प्रभारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने चारों नेताओं अशोक चौधरी, दिलीप चौधरी, रामचंद्र भारती और तनवीर अख्तर को पार्टी से निष्कासित कर दिया।

डॉ. चौधरी ने कहा, ‘मैंने अध्यक्ष पद संभालने के बाद बिहार में कांग्रेस को खड़ा किया। विधान परिषद में कांग्रेस के छह सदस्य बने। चार विधायक वाली पार्टी को 27 विधायक तक पहुंचाया, पर मेरे साथ क्या हुआ किसी से छिपा नहीं है। बेइज्जती के बाद कांग्रेस छोडऩे के सिवा मेरे पास दूसरा विकल्प नहीं था।’ डॉ. चौधरी ने कहा नीतीश कुमार पर भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं और न ही वे जाति की राजनीति में विश्वास करते हैं। उनका ध्येय राज्य का विकास करना है। इस वक्त उनके जैसा दूसरा कोई राजनेता नहीं। उन्होंने कहा जदयू में जाने के पीछे पद जैसी कोई लालसा मेरी नहीं है। पार्टी मुझे जो दायित्व सौंपेगी उसका मैं निर्वहन करूंगा।  (एजेंसी)

Related Post

सर्वे : जनता के भरोसे पर खरी उतरी मोदी सरकार, 56% लोग काम से संतुष्ट

Posted by - May 14, 2018 0
कम्यूनिटी सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म लोकल सर्किल्स ने मोदी सरकार के चार साल के कामकाज पर किया सर्वे नई दिल्ली। एनडीए की…

टीवी शो के जरिए समझाया जा सकता है सुरक्षित सेक्स, अभियान से नहीं होता कोई फायदा

Posted by - September 27, 2018 0
नई दिल्ली। सुरक्षित सेक्स को समझाने के लिए किसी भी जागरूक अभियान से ज्यादा टीवी शो फायदेमंद है। बिहेवियर में…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *