श्री श्री बोले – राममंदिर मुद्दे का जल्द निकलेगा समाधान

48 0
  • सीएम योगी व श्री श्री रविशंकर की गोरखनाथ मंदिर में मुलाकात ने राजनीतिक तापमान बढ़ाया

गोरखपुर। एक आध्यात्मिक कार्यक्रम में गोरखपुर पहुंचे आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर ने गोरखनाथ मंदिर पहुंच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर राजनीतिक गलियारों में खलबली मचा दी। मंगलवार को करीब 40 मिनट तक एकांत में हुई इस मुलाकात के तमाम निहितार्थ निकाले जा रहे हैं, लेकिन दोनों ओर से आए बयानों में बताया जा रहा कि दोनों संतों ने विकास के मुद्दे पर बातचीत की।

बुधवार की सुबह गोरखपुर से रवाना होते हुए श्री श्री रविशंकर ने एक बार फिर राममंदिर मुद्दे का राग छेड़ दिया। उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों ने सकारात्मक पहल की है। जल्द यह मामला सुलझ जाएगा। उन्होंने योगी से मुलाकात के सवाल पर कहा कि वे लोग विकास के मुद्दे पर काफी देर तक बात करते रहे।

मंगलवार (27 फरवरी) की शाम को श्री श्री रविशंकर गोरखपुर पहुंचे। उधर, सोमवार की शाम को गोरखपुर पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ को अपनी जनसभाओं को खत्म कर मंगलवार को दोपहर बाद लखनऊ रवाना होना था। लेकिन अचानक मुख्यमंत्री ने अपने सारे कार्यक्रम कैंसिल कर दिए। लखनऊ न जाकर वह सीधे गोरखनाथ मंदिर पहुंचे। करीब सवा पांच बजे श्री श्री भी गोरखनाथ मंदिर पहुंचे। स्वयं सीएम ने उनकी आगवानी की।

श्री श्री रविशंकर ने योगी आदित्यनाथ के साथ गुरु गोरखनाथ की पूजा-अर्चना की। उसके बाद ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर आशीर्वाद लिया। पीठाधीश्वर कक्ष में उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ 40 मिनट तक अकेले में वार्ता की। दोनों ने किस मुद्दे पर मंथन किया इस बारे में तो कोई कुछ भी साफ तौर पर नहीं कह पा रहा, लेकिन जानकार इसे राममंदिर मुद्दे से भी जोड़कर देख रहे हैं।

हालांकि, मंदिर की ओर से बताया जा रहा कि दोनों संतों के बीच नदियों व विकास के बारे में बातचीत हुई। श्री श्री ने चिंता जताई कि गंगा और यमुना दोनों नदियों में अब भी नालों का पानी गिराया जा रहा है। उन्‍होंने आग्रह किया कि इस पर प्रभावी रोक लगनी चाहिए। इसके पूर्व योगी ने उन्हें महंत अवेद्यनाथ पर लिखी पुस्तक भेंट की। बुधवार सुबह प्रस्थान से पहले मीडिया से बातचीत करते हुए श्री श्री रविशंकर ने कहा कि राममंदिर मुद्दे का हल बहुत जल्द निकलेगा। यह आपसी समझौते से ही होने जा रहा। दोनों पक्ष सकरात्मक ढंग से आगे बढ़े हैं।

Related Post

जानिए, आखिर क्यों अंबेडकर के नाम के साथ जुड़ेगा ‘राम’ का नाम ?

Posted by - March 29, 2018 0
लखनऊ। यूपी में अब डॉ. भीमराव अंबेडकर के नाम के साथ ‘रामजी’ नाम जोड़कर लिखा जाएगा। अंग्रेजी में तो अंबेडकर का नाम…

आईएस की हिट लिस्‍ट में ब्रिटेन के मासूम प्रिंस, सोशल मीडिया पर मिली धमकी

Posted by - October 30, 2017 0
लंदनः  ब्रिटेन के राजकुमार प्रिंस विलियम और केट मिडिलटन का बेटा प्रिंस जॉर्ज (4) अब आतंकी संगठन ISIS के निशाने…

बीएसएफ जवान की धमकी – परिवार को इंसाफ नहीं मिला तो उठा लूंगा हथियार

Posted by - February 6, 2018 0
वीडियो जारी कर दी चेतावनी, पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्‍यनाथ से लगाई न्‍याय की गुहार सहारनपुर। बीएसएफ का एक…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *