विधानसभा चुनाव : मेघालय में 67, नागालैंड में 75 प्रतिशत मतदान

56 0
  • नगालैण्‍ड में दो मतदान केंद्रों पर दो गुटों में हिंसा, एक की मौत, तीन लोग घायल

नई दिल्ली। मेघालय और नगालैण्‍ड विधानसभा के लिए मंगलवार को मतदान शांतिपूर्ण संपन्‍न हो गया। मेघालय में 67 प्रतिशत और नगालैण्‍ड में 75 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकारों का इस्तेमाल किया। शाम चार बजे मतदान की अवधि समाप्त होने के बाद भी कई मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की लंबी कतारें लगी थीं, जिसके कारण मतदान प्रतिशत में कुछ वृद्धि हो सकती है। मतगणना तीन मार्च को होगी।

चुनाव उपायुक्त चंद्रभूषण कुमार ने बताया कि 60 सदस्यीय मेघालय विधानसभा की 59 सीटों के लिए 18 लाख 12 हजार 440 मतदाताओं में से 67 प्रतिशत ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। विलियमनगर विधानसभा सीट से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के उम्‍मीदवार जोनाथन संगमा की आईईडी विस्फोट में मौत होने के कारण इस सीट पर चुनाव नहीं कराया गया। उन्होंने बताया कि 2013 के विधानसभा चुनाव में 89 प्रतिशत मतदान हुआ था, जबकि 2014 के लोकसभा चुनावों में यह आंकड़ा 67 प्रतिशत था। कुमार ने बताया कि शांतिपूर्ण मतदान के लिए कम से कम 22 हजार पुलिस एवं केंद्रीय सुरक्षा बल के जवान तैनात किए गए थे।

मेघालय में वोट डालने के बाद उंगली पर स्याही का निशान दिखातीं युवतियां

उधर, नगालैण्‍ड विधानसभा की सभी 60 सीटों के लिए हुए चुनाव में हिंसा की छिटपुट घटनाओं के बीच 75 प्रतिशत मतदान हुआ। उपचुनाव आयुक्त सुदीप जैन ने बताया कि अपराह्न चार बजे मतदान की अवधि समाप्त होने तक 11 लाख 91 हजार 353 मतदाताओं में से 75 प्रतिशत ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। उन्होंने बताया कि चार बजे के बाद भी 500 से अधिक मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की लंबी कतारें लगी थीं। वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में मतदान का प्रतिशत 90.57 था, जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में यह आंकड़ा 88.2 फीसदी था।  मतदान कड़ी सुरक्षा के बीच 2196 मतदान केंद्रों पर सुबह सात बजे शुरू हुआ था। चुनाव मैदान में कुल 195 प्रत्याशी हैं, जिनमें पांच महिलाएं हैं।

नगालैण्‍ड में दो मतदान केंद्रों पर हिंसा, एक की मौत

उप चुनाव आयुक्‍त ने बताया कि नगालैण्‍ड में एक मतदान केंद्र पर सुबह करीब पौने छह बजे कुछ असामाजिक तत्वों ने देसी बम से विस्फोट किया, जिसमें एक व्यक्ति घायल हो गया। वहीं, अकलूतो में एक मतदान केंद्र के पास नगा पीपल्स फ्रंट और नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी के गुटों के बीच हुए संघर्ष में एक व्यक्ति की मौत हो गई और 2 अन्‍य घायल हो गए। हालांकि इससे मतदान पर कोई असर नहीं पड़ा।   (एजेंसी)

Related Post

विशेषज्ञ बोले – भावनाओं से नहीं ठोस एक्शन से पाक से बदला ले भारत

Posted by - December 28, 2017 0
सामरिक विशेषज्ञ प्रमोद पाहवा का दावा – जाधव प्रकरण पर सरकार जरूरत से ज्यादा सॉफ्ट दिखी रक्षा विशेषज्ञ केके सिन्‍हा…

‘जो हमें सांप-छछूंदर बता रहे, उन्हें मैंने सदन में गूंगा बैठे और रोते देखा है’

Posted by - March 7, 2018 0
गोरखपुर उपचुनाव : सपा प्रत्याशी प्रवीण के पक्ष में जनसभा कर अखिलेश ने सीएम योगी पर किया पलटवार सपा प्रमुख ने…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *